InvestmentStartupवित्तीय समाचारव्यापार

कोरोना में कारोबारी रिकॉर्ड: जून में 16,662 कंपनियों का रजिस्ट्रेशन; इसमें 26% की बढ़ोतरी, बिजनेस सर्विसेज

कोरोनाकाल में देश में कारोबारी लिहाज से लगातार नए रिकॉर्ड बन रहे हैं। अब देश में कंपनी रजिस्ट्रेशन में भी रिकॉर्ड बना है। कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय के ताजा डाटा के मुताबिक, जून 2021 में कुल 16,662 कंपनियों का रजिस्ट्रेशन हुआ है। एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले कंपनी रजिस्ट्रेशन में 26% की बढ़ोतरी हुई है। इससे संकेत मिलता है कि कोरोना की दूसरी लहर के बावजूद देश में कारोबारी बनने की धारणा को बढ़ावा मिला है।
मई के मुकाबले 16.7% की ग्रोथ
मंत्रालय के डाटा के मुताबिक, जून 2021 में रजिस्टर्ड हुई कुल कंपनियों में से 12,722 नई कंपनी हैं। वहीं 3,940 लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप्स (LLPs) हैं। मंत्रालय का कहना है कि सर्विस सेक्टर के लिए LLP काफी फ्लैक्सिबल व्हीकल है। डाटा के मुताबिक, मई के मुकाबले जून में कंपनी रजिस्ट्रेशन में 16.7% की ग्रोथ रही है। मई में नई कंपनियों और LLP समेत कुल 14,269 कंपनियों का रजिस्ट्रेशन हुआ था। जून 2020 में 13,227 कंपनियों का रजिस्ट्रेशन हुआ था। इसमें 10,954 नई कंपनी और 2,273 LLP शामिल थीं।
बिजनेस सर्विसेज सेगमेंट में सबसे ज्यादा रजिस्ट्रेशन
डाटा के मुताबिक, जून 2021 में बिजनेस सर्विसेज सेगमेंट में सबसे ज्यादा 29% कंपनियों का रजिस्ट्रेशन हुआ है। इस सेगमेंट में 3,684 कंपनियां रजिस्टर्ड हुई हैं। इसके बाद 20% भागीदारी (2,621 कंपनियां) के साथ मैन्युफैक्चरिंग सेगमेंट का नंबर आता है। 15% भागीदारी यानी 1942 कंपनियों के रजिस्ट्रेशन के साथ स्वास्थ्य और सोशल वर्क तीसरे स्थान पर है। ट्रेडिंग में 1487 कंपनी या 12% रजिस्ट्रेशन हुए हैं। कृषि और इससे संबंधित सेगमेंट की भागीदारी 7% रही है। इस सेगमेंट में कुल 907 कंपनियों का रजिस्ट्रेशन हुआ है।
कंपनी रजिस्ट्रेशन में महाराष्ट्र टॉप पर
जून 2021 में कंपनी रजिस्ट्रेशन में महाराष्ट्र टॉप पर रहा है। पिछले महीने महाराष्ट्र में 2,521 कंपनियों का रजिस्ट्रेशन हुआ है। 1,325 कंपनियों के रजिस्ट्रेशन के साथ उत्तर प्रदेश दूसरे स्थान पर रहा है। 1,293 कंपनियों के रजिस्ट्रेशन के साथ दिल्ली तीसरे स्थान पर रही है। कुल रजिस्ट्रेशन में महाराष्ट्र की 19.82%, उत्तर प्रदेश की 10.42% और दिल्ली की 10.16% हिस्सेदारी रही है।
अब देश में 13.76 लाख एक्टिव कंपनियां
मंत्रालय के डाटा के मुताबिक, अब तक देश में 21 लाख 87 हजार, 026 कंपनियों का रजिस्ट्रेशन हुआ है। इसमें से अब 13 लाख 76 हजार 366 कंपनियां एक्टिव हैं। अन्य कंपनियां विभिन्न कारणों से बंद हो गई हैं या फिर अन्य कानूनी प्रक्रियाओं के कारण एक्टिव नहीं हैं। एक्टिव कंपनियों में भी बिजनेस सर्विसेज सेगमेंट टॉप पर है। अब इस सेगमेंट में 4 लाख 34 हजार 248 कंपनियां एक्टिव हैं। वहीं मैन्युफैक्चरिंग सेगमेंट में 2 लाख 78 हजार 229 कंपनियां एक्टिव हैं। ट्रेडिंग सेगमेंट में 1 लाख 76 हजार 221 कंपनियां एक्टिव हैं। कंस्ट्रक्शन में 1 लाख 11 हजार 583 कंपनियां एक्टिव हैं।
पिछले वित्त वर्ष में 1.47 लाख कंपनियों का रजिस्ट्रेशन
कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय की ओर से जून में जारी डाटा के मुताबिक, वित्त वर्ष 2020-21 में 1 लाख 47 हजार 247 नई कंपनियों का रजिस्ट्रेशन हुआ था। जब एक साल पहले समान अवधि में 1 लाख 3 हजार 64 नई कंपनियां रजिस्टर्ड हुई थीं। बीते वित्त वर्ष में कृषि और इससे संबंधित सेक्टर में 11,037, स्वास्थ्य और सोशल वर्क सेगमेंट में 6,934, एजुकेशन सेगमेंट में 4,476, फूड प्रोडक्ट और बेवरेजेस में 7,525, होलसेल ट्रेड में 9,514, रिटेल ट्रेड में 6,689, रिक्रिएशन और स्पोर्ट्स सेगमेंट में 1906 नई कंपनियों का रजिस्ट्रेशन हुआ था।
Copyright © 2023-24 DB Corp ltd., All Rights Reserved
This website follows the DNPA Code of Ethics.

source
ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. AAMMAT.in पर विस्तार से पढ़ें व्यापार जगत की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

और पढ़ें

संबंधित स्टोरीज

Back to top button