असमः सरकारी मदरसे और संस्कृत स्कूल होंगे बंद, कैबिनेट की मंजूरी

Page Visited: 334
0 0
Read Time:1 Minute, 45 Second

आम मत | दिसपुर

असम की सर्बानंद सोनोवाल सरकार ने राज्य में सभी सरकारी मदरसों और संस्कृत स्कूलों को बंद करने के प्रस्ताव को रविवार को मंजूरी दे दी। रविवार को हुई कैबिनेट की बैठक में ये फैसला लिया गया है। विधानसभा के आगामी शीतकालीन सत्र में एक विधेयक पेश किया जाएगा।

बता दें कि असम विधानसभा का शीतकालीन सत्र 28 दिसंबर से शुरू होने वाला है। संसदीय मामलों के मंत्री और सरकार के प्रवक्ता चंद्र मोहन पटवारी ने बताया कि मदरसा और संस्कृत स्कूलों से जुड़े मौजूदा कानूनों को वापस ले लिया जाएगा। इसके लिए राज्य विधानसभा के अगले सत्र में एक विधेयक लाया जाएगा। इससे पहले असम सरकार में शिक्षा मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा था कि राज्य सरकार द्वारा मदरसों और संस्कृत स्कूलों को जल्द ही नियमित स्कूलों के रूप में पुनर्गठित किया जाएगा।

उनका कहना था कि धार्मिक शिक्षा के लिए सरकारी फंड ख़र्च नहीं किया जा सकता। ऐसे में राज्य मदरसा शिक्षा बोर्ड, असम को भंग कर दिया जाएगा। शिक्षा मंत्री सरमा ने यह भी कहा था कि असम में 610 सरकारी मदरसे हैं और सरकार इन संस्थानों पर हर साल करीब 260 करोड़ रुपए खर्च करती है।

Share
Previous post कोरोना के बीच कर्मचारियों को मिली खुशखबरी, ईपीएफओ ने लिया ये फैसला
RIP SSR Next post 6 महीने बाद भी सीबीआई नहीं सुलझा पाई सुशांत सिंह की मौत का रहस्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement