जयपुरः उद्योग कनेक्ट में कोरोना के बाद रोजगार की तलाशी संभावनाएं

Page Visited: 647
4 0
Read Time:6 Minute, 9 Second

आम मत | जयपुर

उद्योग कनेक्ट में कोरोना के बाद रोजगार की संभावनाएं तलाशी गईं। साथ ही, युवाओं को कोरोना के बाद रोजगार किस तरह दिलाए जाए इस विषय पर सेमिनार का आयोजन किया गया। राजस्थान सरकार, कौशल, रोजगार और उद्यमिता विभाग और यूनिवर्सिटी ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट (यूईएम), जयपुर के संयुक्त तत्वावधान में मंगलवार को आरएसएलडीसी सभागार, झालाना इंस्टीट्यूशनल एरिया, जयपुर, में ‘रोजगार परिदृश्य पोस्ट कोरोना ‘ पर “उद्योग कनेक्ट कार्यक्रम” का आयोजन किया गया।

उद्योग कनेक्ट कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य सरकार,अधिकारियों, उद्योग कर्मियों, FICCI, CII, VKI, FORT के बीच वार्ता कर रोजगार की सम्भावनाओ का पता लगाना है साथ ही कोरोना के बाद युवाओं के लिए रोजगार किस तरह से उपलब्ध कराया जा सकता है के बारे में चर्चा हुई।

कार्यक्रम एक मंच के रूप था, जहां सरकार के प्रतिनिधि, उद्योगपति, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, मानव संसाधन पेशेवर, और विश्वविद्यालय के अधिकारी दुनिया भर व भारत में रोजगार, उद्योग के कामकाज के पैटर्न में परिवर्तन, भर्ती आदि पर वैश्विक महामारी के प्रभाव के बारे में चर्चाएं हुई और विशेष रूप से कार्यक्रम का फोकस इस बात पर चर्चा करना रहा कि कोरोना के बाद रोजगार के क्षेत्रों में किस प्रकार से वृद्धि की जा सकती है और युवाओं को को अधिक मात्रा में रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए क्या सम्भावनाये देखी जा सकती है।

seminar 3

उद्योग कनेक्ट में ये भी हुए शामिल

कार्यक्रम में श्रम, रोजगार, कौशल, उद्यमिता और ईएसआई के सचिव नीरज के पवन, श्रम आयुक्त प्रतीक झाझरिया, राजस्थान कौशल और आजीविका विकास निगम ( RSLDC) के एमडी प्रदीप के गावंडे, कौशल, रोजगार और उद्यमिता विभाग के निदेशक महेश शर्मा, सीआईआई के निदेशक नितिन गुप्ता, फॉर्टी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष अरुण अग्रवाल, वीकेआई के पूर्व अध्यक्ष जगदीश सोमानी, कर्मचारी संगठन के अध्यक्ष एनके जैन, अल्ट्राटेक सीमेंट के सुमित तिवारी, पीएचईडी चैम्बर ऑफ कॉमर्स के दिग्विजय डाबरिया, अल्का बत्रा, रानू श्रीवास्तव, यूनिवर्सिटी ऑफ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट (यूईएम) के रजिस्ट्रार डॉ. प्रदीप कुमार शर्मा, यूईएम के डीन डॉ. अनिरुद्ध मुखर्जी आदि मौजूद रहे।

23 मार्च को यूईएम कैंपस में होगा रोजगार मेला

कार्यक्रम में आईएएस नीरज के पवन ने 23 मार्च को यूनिवर्सिटी कैंपस में रोजगार विभाग (कौशल, नियोजन एवं उद्यमिता विभाग जयपुर व यूनिवर्सिटी के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित होने वाले रोजगार मेले के पोस्टर का विमोचन किया। साथ ही रोजगार मेला रजिस्ट्रेशन वेबसाइट को डीजिटल माध्यम से लॉन्च किया गया।

बिना औपचारिकता के रोजगार के अवसर बढ़ाएं संस्थानः नीरज के पवन

आईएएस नीरज के पवन ने कहा कि बिना किसी औपचारिकताओं के उद्यमियों अन्य प्रतिष्ठित संस्थानों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना चाहिए साथ ही उद्यमियों को अच्छे श्रमिकों का प्रयास करना चाहिए जिससे कि उत्पादन को बढ़ाया जा सके और उद्योगों के विकास में वृद्धि हो सके। इससे रोजगार के अवसर भी मिल सकेंगे।

एक प्लेटफॉर्म पर आएं संस्थान और उद्यमीः डॉ. शर्मा

यूनिवर्सिटी रजिस्ट्रार प्रो डॉ प्रदीप शर्मा ने राजस्थान सरकार उद्यमियों और संस्थानों को एक प्लेटफार्म पर आकर विद्यार्थियों के लिए सही मार्गदर्शन उपलब्ध कराने की आवश्यकता पर बल दिया! साथ ही उन्होंने बताया कि यूईएम जयपुर अपने यहां कौशल आधारित पाठ्यक्रम उपलब्ध कराने के लिए तैयार है, बशर्ते उद्यमी अपनी आवश्यकताएं यूनिवर्सिटी को बताएं। डॉ शर्मा ने कहा यूईएम जयपुर में आईटी सेक्टर को मजबूत करने के लिए व वर्तमान आवश्यकताओं के हिसाब से योग्य वातावरण उपलब्ध है।

seminar 2

यूनिवर्सिटी उपनिदेशक प्रोजेक्ट संदीप अग्रवाल ने बताया कि कार्यक्रम यूनिवर्सिटी के प्रो उमेश गुरनानी, प्लेसमेंट विभाग के सचिन पाण्डे, अनुज सेठी, रिसर्च स्कोलर अफाक अहमद, ज्योतिर्मय सहा के साथ साथ अन्य विद्यार्थीयो ने भी शिरकत की।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement