तीन ग्रह मिलकर आज बनाएंगे अद्भुत नजारा, देखने के लिए किसी यंत्र की नहीं होगी आवश्यकता

Page Visited: 1680
0 0
Read Time:3 Minute, 40 Second

आम मत | नई दिल्ली

अंतरिक्ष हमेशा कुछ ना कुछ खगोलीय घटनाएं होती ही रहती हैं, लेकिन इनमें से अधिकांश को हम अपनी आंखों से देख नहीं पाते। इसका कारण उनका बेहद दूर और कुछ मिनट या सैकंड के लिए होना होता है। इस कारण से नंगी आंखों से उन्हें देख पाना संभव नहीं होता है। वहीं, शनिवार-रविवार (9 और 10 जनवरी) को ऐसा अद्भुत नजारा देखने को मिलेगा, जो शायद ही फिर कभी हो।

Hindu Calendar 2022 | Panchang 2022 | Hindi Calendar 2022

हमारे सौर मंडल के नौ ग्रहों में से एक बृहस्पति (जूपिटर), बुध (मर्करी) और शनि (सैटर्न) एक सीधी रेखा में दिखाई देंगे। शनिवार को सूर्यास्त के बाद सबसे पहले, बृहस्पति दिखाई देगा। फिर, इसके नीचे, बुध और अंत में, शनि बृहस्पति की तुलना में 10 गुना धुंधला दिखाई देगा। दूरबीन, विशेष रूप से शनि के लिए, बहुत उपयोगी होंगे।

यदि आप जहां है वहां आसमान पूरी तरफ साफ है तो आपको किसी यंत्र की जरूरत नहीं होगी। 10 जनवरी को त्रिभुज के रूप में “ट्रिपल कंजंक्शन” को आसानी से देखा जा सकता है।

सूर्यास्त के बाद करीब 30 मिनट तक दिखाई देगा दृश्य

सूर्यास्त के बाद लगभग 30 मिनट तक यह दृश्य आसमान में दिखाई देगा। आसमान में तीनों ग्रह एक रेखा पर बाहर निकल जाएंगे और सूर्यास्त के 90 मिनट बाद पूरी तरह से डूब जाएंगे। इसलिए अगर आप यह अद्भुत नजारा देखना चाहते हैं तो सूर्यास्त के समय दक्षिण-पश्चिम दिशा में आसमान की तरफ देखें. इसे आसानी से देखने और समझने के लिए आप स्टार ट्रैकर एप्लिकेशन की सहायता भी ले सकते हैं।

नजारा देखने के लिए खास तैयारी की नहीं जरूरत

तीनों ग्रहों का यह अद्भुत नजारा दक्षिण-पश्चिमी आकाश में दिखेगा। इसलिए आपको एक सटीक एंगल से ही ये दिखाई देगा। किसी ऊंची इमारत की तीसरी या चौथी मंजिल से इसे देखा जा सकेगा। इसके लिए आपको और किसी खास तरह की तैयारी की जरूरत नहीं होगी।

400 साल बाद 21 दिसंबर को बृहस्पति और शनि आए थे सबसे करीब

बीते 21 दिसंबर को पूरे 400 साल बाद बृहस्पति और शनि सबसे करीब आए थे। इस खगोलीय घटना के बाद 9 और 10 जनवरी को सूर्यास्त के बाद रात में आकाश में बृहस्पति (सबसे चमकीला), बुध और शनि तीनों ग्रह मिलकर एक छोटा त्रिकोण बनाएंगे।

रविवार को सूर्यास्त के बाद छोटे ग्रह, बुध, बृहस्पति और शनि लगभग समवर्ती त्रिकोण के रूप में दिखाई देंगे, जिसमें बुध सूर्य से थोड़ा दूर चला जाएगा। इसलिए कैलेंडर में 10 जनवरी को चिह्नित करें और अपने अलार्म सेट करें, क्योंकि सूर्यास्त के ठीक आसमान में आपको अद्भुत नजारा दिखेगा।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement