प्रमुख खबरें

रामलला की पहली झलक आई सामने, दिन में तीन बार होगी आरती

रामलला मूर्ति: विशेषताएँ, दर्शन एवं आरती समय

अयोध्या:

अयोध्या में राम मंदिर के गर्भगृह में स्थापित रामलला की मूर्ति की पहली झलक शुक्रवार, 19 जनवरी, 2024 को सामने आई। मूर्ति को 17 जनवरी को मंदिर परिसर लाया गया था और गुरुवार को क्रेन के सहारे गर्भगृह में स्थापित किया गया था।

Ram Lalla Murti Photo

मूर्ति 200 किलो वजनी है और इसे काले पाषाण से बनाया गया है। मूर्ति में रामलला दायें हाथ में धनुष और बाएं हाथ में बाण लिए हुए हैं। उनके चेहरे पर शांति और करुणा का भाव है।

मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी, 2024 को होगी। उस दिन से आम श्रद्धालु भी रामलला के दर्शन कर सकेंगे।

Ram Lalla Murti Photo Close-up

रामलला मूर्ति की विशेषताएं

  • मूर्ति का आकार लगभग 11 फुट ऊंचा और 5 फुट चौड़ा है।
  • मूर्ति का वजन 200 किलो है।
  • मूर्ति का निर्माण काले पाषाण से किया गया है।
  • मूर्ति में रामलला दायें हाथ में धनुष और बाएं हाथ में बाण लिए हुए हैं।

रामलला मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा

मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी, 2024 को होगी। इस दिन राम मंदिर में कई धार्मिक अनुष्ठान होंगे। मूर्ति में भगवान राम के प्राण डाले जाएंगे।

प्राण प्रतिष्ठा के बाद आम श्रद्धालु भी रामलला के दर्शन कर सकेंगे।

श्री राम मंदिर का भव्य उद्घाटन समारोह 22 जनवरी, 2024 को अयोध्या में होने वाला है. इस ऐतिहासिक कार्यक्रम में भाग लेने की इच्छा हर किसी की है और हर कोई इस खास मौके पर अपनी मौजूदगी दर्ज कराना चाहता है. इसके लिए श्रद्धालु बड़ी संख्या अयोध्या जा भी रहे हैं, लेकिन आपको बता दें कि मंदिर में होने वाली आरती में केवल पास लेने पर ही शामिल होने के लिए एंट्री मिल सकती है. हालांकि आप मंदिर के काउंटर से ऑफलाइन भी पास ले सकते हैं, लेकिन श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र आपको घर बैठे ऑनलाइन पास देने की भी सुविधा देता है.

बता दें कि श्रीराम मंदिर में पूरे दिन में तीन बार आरती होगी. ऐसे में आप अपनी प्राथमिकता के अनुसार आरती का समय चुन सकते हैं. श्रद्धालुओं को प्रदान की गई सूची से अपनी पसंदीदा आरती का चयन करने की सुविधा दी गई है, जिससे वे अपने कार्यक्रम के अनुसार मैनेज कर सकते हैं. यह सुनिश्चित करता है कि श्रद्धालु उद्घाटन के आध्यात्मिक और सांस्कृतिक महत्व में पूरी तरह से शामिल हो सकें, जिससे अयोध्या में ऐतिहासिक श्री राम मंदिर के प्रति जुड़ाव और भक्ति की भावना को बढ़ावा मिले.

अयोध्या में राम मंदिर का उद्घाटन समारोह 22 जनवरी, 2024 को निर्धारित है. श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने मंदिर के उद्घाटन के शुभ दिन पर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की भागीदारी की आधिकारिक पुष्टि की है. यह पुष्टि इस आयोजन के महत्व को रेखांकित करती है, क्योंकि इसमें प्रधान मंत्री की सम्मानित उपस्थिति देखी जाएगी, जिससे इस ऐतिहासिक अवसर में प्रतिष्ठा और महत्व की भावना जुड़ जाएगी.

Ram Mandir Ayodhya, Ram Ralla Murti Photo, रामलला
रामलला की पहली झलक आई सामने, दिन में तीन बार होगी आरती 10

प्राण प्रतिष्ठा समारोह समय:

प्राण प्रतिष्ठा का पवित्र समारोह 22 जनवरी, 2024 को होने वाला है. इस शुभ कार्यक्रम के दौरान, मंदिर के भीतर राम लला का अभिषेक दोपहर 12:15 बजे से 12:45 बजे के बीच होने वाला है. यह महत्वपूर्ण क्षण मूर्ति के भीतर दिव्य ऊर्जा की स्थापना का प्रतीक है, जो मंदिर को आध्यात्मिक महत्व और पवित्रता से भर देता है.

दर्शन का समय:

मंदिर दर्शन, या श्रद्धालुओं के लिए दिव्य दर्शन पाने का अवसर, सुबह 7 बजे से 11:30 बजे तक उपलब्ध है. इसके अलावा, मंदिर में दोपहर 2 बजे से शाम 7 बजे तक एक बार फिर दर्शन किए जा सकेंगे. और पूरे दिन विभिन्न बिंदुओं पर पवित्र वातावरण से जुड़ें, जिससे सुबह और दोपहर के सत्रों के दौरान दिव्य अनुभव चाहने वालों के लिए पहुंच सुनिश्चित हो सके।

आरती का समय:

तीन दैनिक आरती समारोह क्रमशः सुबह 6:30 बजे, दोपहर 12:00 बजे और शाम 7:30 बजे निर्धारित किए गए हैं. आरती समारोहों में भाग लेने के लिए निम्नलिखित अनुसूची के साथ पास होना अनिवार्य होगा. सुबह 6:30 बजे: शृंगार/जागरण आरती दोपहर 12:00 बजे: भोग आरती शाम 7:30 बजे: संध्या आरती भक्तों को प्रदान की गई सूची से अपनी पसंदीदा आरती का चयन करने की सुविधा दी गई है, जिससे वे तदनुसार अपने कार्यक्रम के अनुसार मैनेज कर सकते हैं.

अयोध्या में श्री राम मंदिर का भव्य उद्घाटन समारोह

रामलला, Ram Lalla Murti Photo, Shri Ram Mandir Ayodhya,
रामलला की पहली झलक आई सामने, दिन में तीन बार होगी आरती 11

भारतीय इतिहास के एक महत्वपूर्ण पल का इंतजार अब खत्म होने जा रहा है। श्री राम मंदिर का भव्य उद्घाटन समारोह 22 जनवरी, 2024 को अयोध्या में होने वाला है। यह एक ऐतिहासिक क्षण होगा जब भारत की संस्कृति, धार्मिकता और एकता की जीत का प्रतीक बनेगा।

श्री राम मंदिर का निर्माण अयोध्या के एक स्थान पर किया जा रहा है जहां पहले बाबरी मस्जिद थी। इस मस्जिद के विध्वंस के बाद से ही एक लंबी और विवादास्पद यात्रा की शुरुआत हुई थी, जो अब अपने अंतिम अवस्था में है।

श्री राम मंदिर का निर्माण अयोध्या के जीवनदानी भगवान श्री राम के नाम पर हो रहा है। भगवान श्री राम की जन्मभूमि के रूप में जाने जाने वाले यह स्थान अब भगवान श्री राम के मंदिर के रूप में परिवर्तित हो रहा है। यह मंदिर न केवल भक्तों के लिए एक धार्मिक स्थल होगा, बल्कि यह भारतीय विरासत और संस्कृति का प्रतीक भी होगा।

श्री राम मंदिर का भव्य उद्घाटन समारोह 22 जनवरी, 2024 को होने वाला है। इस समारोह के लिए अयोध्या में तैयारियां पूरी गतिविधियों के साथ चल रही हैं। राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इस समारोह की तैयारियां की जा रही हैं और लाखों लोग इस ऐतिहासिक क्षण के गवाह बनने के लिए अयोध्या में एकत्र होंगे।

इस उद्घाटन समारोह में विभिन्न धार्मिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। यह समारोह देश और विदेश के अनेक लोगों को आकर्षित करेगा और अयोध्या को एक प्रमुख पर्यटन स्थल बनाएगा। इसके साथ ही, यह मंदिर भक्तों के लिए एक स्थान होगा जहां उन्हें शांति, आशीर्वाद और संतोष की अनुभूति होगी।

श्री राम मंदिर का निर्माण एक ऐतिहासिक क्षण है जो भारत की धार्मिकता, एकता और सांस्कृतिक विरासत को प्रतिष्ठित करेगा। यह मंदिर एक संकल्प है जो देशभक्ति, सद्भाव और शांति की प्रतीक है। इसके निर्माण से न केवल अयोध्या को एक नया आयाम मिलेगा, बल्कि यह पूरे देश को एक नया संदेश देगा कि हम सभी एक हैं और एकता में शक्ति है।

श्री राम मंदिर का भव्य उद्घाटन समारोह एक ऐतिहासिक घटना होगी जो हमारे देश के इतिहास में स्थान पाएगी। यह समारोह देशभक्ति, धार्मिकता और सांस्कृतिकता के प्रतीक के रूप में हमारे देश को गर्व महसूस कराएगी। हम सभी को इस महान क्षण का अभिनंदन करना चाहिए और इसकी यात्रा में भाग लेना चाहिए।


ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. AAMMAT.in पर और विस्तार से पढ़ें आध्यात्मिक और अन्य ताजा-तरीन खबरें

और पढ़ें

संबंधित स्टोरीज

3 Comments

  1. It was great seeing how much work you put into it. The picture is nice, and your writing style is stylish, but you seem to be worrying that you should be presenting the next article. I’ll almost certainly be back to read more of your work if you take care of this hike.

  2. I loved even more than you could possibly be able to accomplish right here. Despite the fact that the language is stylish and the overall appearance is appealing, there is something odd about the manner that you write that makes me think that you ought to be careful about what you say in the future. In the event that you safeguard this hike, I will most certainly return on multiple occasions.

  3. My acquaintance recommended this website to me. While I am uncertain as to whether this post was written by him, no one else knows as much about my problem in such detail. Your assistance is tremendous.

Back to top button