लाइफस्टाइल

गर्मियों में स्किन को Dryness, Tanning से ऐसे बचाएं

आम मत | नई दिल्ली

Tanning: गर्मी में खुश्क यानी रूखी स्किन और अधिक रूखी और तैलीय त्वचा और अधिक तैलीय हो जाती है। इसकी वजह होती हैं गर्म हवाएं। इन हवाओं और बढ़े हुए तापमान के कारण त्वचा मैकेनिज़म प्रभावित होता है। जिससे टैनिंग और सनबर्न के प्रति स्किन बहुत अधिक सेंसेटिव हो जाती है। सनबर्न (Sunburn), टैनिंग (Tanning), स्किन ड्राइनेस (Dryness) और बहुत अधिक सीबम आने की समस्या से बचने के लिए आप गर्मी के मौसम में किस तरह से अपनी त्वचा का ध्यान रख सकती हैं, इस बारे में हम आपके लिए यहां एक्सपर्ट्स के दिए टिप्स लेकर आए हैं।

गर्मी के मौसम में बढ़ जाती हैं ये समस्याएं

सूरज की यूवी रेज (UV Rage) और तेज धूप के कारण त्वचा में मेलेनिन का उत्पादन भी बढ़ जाता है। इससे त्वचा में मेलेनिन का उत्पादन बहुत अधिक बढ़ जाता है। जो स्किन में पिग्मेंटेनश बढ़ाता है त्वचा के रंग को डार्क भी करता है। गर्मी के मौसम में स्किन पोर्स का साइज अन्य मौसम की तुलना में बहुत अधिक बढ़े लगता है और स्किन पोर्स अक्सर खुले हुए और बड़े नजर आते हैं। इससे तैलीय त्वचा वाले लोगों को अधिक समस्या का सामना करना पड़ता है। क्योंकि पिंपल, ऐक्ने और फुंसी जैसी समस्याएं बढ़ जाती है।

Tanning से बचने और स्किन को ग्लोइंग रखने के खास उपाय

महिलाओं को अपनी त्वचा का ध्यान रखने के लिए कुछ गर्मी के मौसम में कुछ खास चीजों का ध्यान जरूर रखना चाहिए। जैसे,

  • स्किन को हाइड्रेटेड रखें
  • मेकअप का उपयोग कम से कम करें
  • पानी अधिक पिएं
  • तेज धूप में ना निकलें
  • मौसम के अनुसार डायट लें
  • आंवले से बने उत्पादों का सेवन करें
  • सनस्क्रीन जरूर लगाएं
  • विटमिन सी को डायट में शामिल करें

त्वचा को हाइड्रेट रखने के तरीके

इसे भी पढ़ें:

Tanning: गर्मी के मौसम में त्वचा को हाइड्रेट रखना अन्य किसी भी मौसम की तुलना में अधिक आसान होता है। क्योंकि इस मौसम में आप चिल्ड ड्रिंक्स का सेवन कर सकती हैं। साथ ही देसी ड्रिंक्स के जरिए भी शरीर में पानी की कमी को दूर कर सकती हैं।

  • गन्ने का जूस पिएं
  • छाछ
  • दही
  • लस्सी
  • आम का पना
  • रसीले फल
  • नींबू पानी
  • नारियल पानी
  • मिनरल वॉटर
Tanning
गर्मियों में स्किन को Dryness, Tanning से ऐसे बचाएं 7

जैसे पेय पदार्थों का सेवन हर दिन पर्याप्त मात्रा में करें। इससे आपकी त्वचा में नमी बनी रहेगी और स्किन नैचरली ग्लोइंग रहेगी।

इसे भी पढ़ें:

स्किन केयर में इस प्रॉडक्ट्स को शामिल करें

Tanning: त्वचा पर स्किन केयर प्रॉडक्ट्स का उपयोग करते समय ऐसे प्रॉडक्ट्स का चुनाव करें, जिनमें सल्फर का उपयोग ना किया गया हो। बेहतर होगा कि आप अपनी त्वचा की देखभाल के लिए घरेलू और हर्बल तरीकों को अपनाएं। इससे त्वचा को नुकसान भी नहीं होता है और गर्मी का असर भी आपकी स्किन की रंगत खराब नहीं करता है।

मेकअप में कटौती और ग्लूटाथियोन की चमक

Tanning: ग्लूटाथियोन जैसे न्यूट्रास्यूटिकल्स हमारी त्वचा के स्वास्थ्य में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। विशेष रूप से पिग्मेंटेशन और ब्लेमिशेज कम करने के मामले में। ग्लूटाथियोन हमारे शरीर में मेलेनिन के सीक्रेशन को बढ़ने से रोकता है। इससे स्किन में डार्कनेस नहीं बढ़ती है। साथ ही ग्लूटाथियोन त्वचा में अवशोषित अल्ट्रा वायलेट किरणों द्वारा निर्मित विषाक्त पदार्थों और शरीर के अंदर मौजूद मुक्त कणों से होनेवाले नुकसान को कम करता है। इससे आपका स्किन टोन लाइट बना रहता है और स्किन फ्रेश नजर आती है।

इसे भी पढ़ें:

विटामिन सी का सेवन देता है ये फायदा

Tanning: आपको बता दें कि हमारे शरीर के अंदर होने वाली बायॉलजिकल प्रॉसेस के कारण शरीर में मुक्त कण यानी हानिकारक फ्री रेडिकल्स बनते रहते हैं। जो स्किन सेल्स को बहुत तेजी से नुकसान पहुंचाते हैं। हमारी त्वचा को बूढ़ा बनाने में इन फ्री रेडिकल्स का बहुत बड़ा योगदान होता है। इसीलिए जो लोग अपनी स्किन का ध्यान नहीं रखते हैं, उनकी त्वचा पर बुढ़ापा समय से पहले नजर आने लगता है। क्योंकि इनके कारण स्किन में कोलेजन का उत्पादन सही तरह से नहीं हो पाता है और त्वचा की नई सेल्स बनने की प्रक्रिया धीमी पड़ जाती है। विटामिन-सी त्वचा के लिए एंटी-ऑक्सिडेंट के रूप में काम करती है। इसका नियमित उपयोग त्वचा की रंगत को पूरी तरह बदलने की क्षमता रखता है। इसलिए हर दिन नींबू, आंवला, टमाटर, मौसमी, संतरा, पाइनऐपल, कीवी, अंगूर जैसे फलों का सेवन जरूर करें।

इसे भी पढ़ें:
Show More

Related Articles

Back to top button