राजस्थानNewsराजनीति खबरेंराज्य

Rajasthan News: 643 Cr की कालीतीर लिफ्ट परियोजना का CM Gehlot ने किया शिलान्यास

मुख्यमंत्री गहलोत ने 643 करोड़ रुपए की लागत की कालीतीर लिफ्ट परियोजना का शिलान्यास किया

धौलपुर / जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कालीतीर लिफ्ट परियोजना (Kaliteer Lift Irrigation Scheme) का शिलान्यास एवं सिलावट एनीकट परियोजना का लोकार्पण कर धौलपुर जिले के लोगों को कई सौगातें दी। श्री गहलोत ने मुख्यमंत्री निवास से वीसी के जरिए शिलान्यास एवं लोकार्पण कर ये सौगातें दीं।

समारोह में उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं से धौलपुर जिले में जलस्तर में वृद्धि होगी। किसानों को सिंचाई के लिए लम्बे समय तक पर्याप्त जल मिलेगा, जिससे वे वर्षभर खेती कर सकेंगे और उनकी आय भी बढ़ेगी। 

श्री गहलोत ने विभागीय अधिकारियों को कालीतीर लिफ्ट परियोजना का कार्य समयबद्ध और गुणवत्तापूर्वक कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जल सीमित व अमूल्य प्राकृतिक संसाधन है। ऐसे में जल संरक्षण से ही पानी बचाव संभव है। उन्होंने प्रदेशवासियों से जल संरक्षण और कम पानी में अधिक खेती की पद्धति अपनाने का आह्वान भी किया। 

इस अवसर पर आयोजित समारोह में उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं से धौलपुर जिले में जलस्तर में वृद्धि होगी। किसानों को सिंचाई के लिए लम्बे समय तक पर्याप्त जल मिलेगा, जिससे वे वर्षभर खेती कर सकेंगे और उनकी आय भी बढ़ेगी। श्री गहलोत ने विभागीय अधिकारियों को कालीतीर लिफ्ट परियोजना का कार्य समयबद्ध और गुणवत्तापूर्वक कराने के निर्देश दिए।

जल संरक्षण से ही पानी बचाव संभव: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

उन्होंने कहा कि जल सीमित एवं अमूल्य प्राकृतिक संसाधन है। ऐसे में जल संरक्षण से ही पानी बचाव संभव है। उन्होंने प्रदेशवासियों से जल संरक्षण और कम पानी में अधिक खेती की पद्धति अपनाने का आह्वान किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि घर-घर जल पहुंचाने के उद्देश्य से जल जीवन मिशन को समयबद्ध पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। इसमें जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग से 820 करोड़ रुपए लागत के कार्य हैं।

उन्होंने कहा कि मिशन में केंद्र सरकार 45 प्रतिशत और राज्य सरकार 55 प्रतिशत वहन कर रही है। इसमें आमजन द्वारा दी जाने वाली 10 प्रतिशत राशि भी राज्य सरकार वहन कर उन्हें राहत प्रदान कर रही है। बसेड़ी विधानसभा की सरमथुरा तहसील में कालीतीर लिफ्ट परियोजना के निर्माण में 643 करोड़ रुपए व्यय होंगे। चम्बल नदी में वर्षाकाल के दौरान अत्यधिक जल को लगभग 180 मीटर लिफ्ट कर पार्वती बांध और रामसागर बांध को हर वर्ष पूरी क्षमता तक भरा जाएगा।

इससे कमांड क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा सुनिश्चित हो सकेगी। इन बांधों के भरने से जिले की जीवनदायनी बामनी, पार्वती और उटंगन नदियों में हमेशा जल उपलब्ध रहेगा। इससे बसेड़ी विधानसभा क्षेत्र के तीन, बाड़ी के चार, धौलपुर के एक और राजाखेड़ा के 10 एनीकट में जलभराव संभव होगा। इस परियोजना से धौलपुर जिले के तीन शहरी और 433 ग्रामीण क्षेत्रों के लिए आवश्यक पेयजल भी उपलब्ध हो सकेगा।

किसानों, आमजन व पशुओं के लिए पानी आसानी से होगा सुलभ

जिले का भूजल स्तर बढ़ने से किसानों को सिंचाई के लिए और आमजन व पशुओं के लिए पीने का पानी भी आसानी से सुलभ हो सकेगा। धौलपुर जिले की राजाखेड़ा तहसील के सिलावट गांव में उटंगन नदी पर 100 मीटर लम्बा और 2 मीटर ऊंचा एनीकट बनाया गया है। इसमें 0.54 मिलियन क्यूबिक मीटर जल भराव होता है। इस एनीकट के निर्माण से ग्राम सिलावट, जवाहर का पुरा, काटरपुरा और कसियापुरा के गांवों की 12 हजार जनसंख्या को लाभ मिलेगा।

मुख्यमंत्री गहलोत ने 643 करोड़ रुपए की लागत की कालीतीर लिफ्ट परियोजना का शिलान्यास किया 

Ka;iteer Lift Irrigation Scheme Rajasthan Dholpur
Rajasthan News: 643 Cr की कालीतीर लिफ्ट परियोजना का CM Gehlot ने किया शिलान्यास 7

आसपास के कुंओं, नलकूपों में जलस्तर बढ़ेगा। समारोह में वीसी से जल संसाधन राज्य मंत्री भंवर सिंह भाटी, समारोह स्थल से राजाखेड़ा विधायक रोहित बोहरा, धौलपुर विधायक शोभारानी कुशवाह, मुख्यमंत्री निवास से मुख्य सचिव उषा शर्मा, अतिरिक्त मुख्य सचिव जल संसाधन डॉ. सुबोध अग्रवाल, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त अखिल अरोड़ा, अतिरिक्त सचिव एवं मुख्य अभियंता भुवन भास्कर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी, जनप्रतिनिधि और आमजन मौजूद थे।

जल जीवन मिशन हमारी प्राथमिकता

मुख्यमंत्री ने कहा कि घर-घर जल पहुंचाने के उद्देश्य से जल जीवन मिशन को समयबद्ध पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। इसमें जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग से 820 करोड़ रुपए लागत के कार्य हैं। उन्होंने कहा कि मिशन में केंद्र सरकार 45 प्रतिशत और राज्य सरकार 55 प्रतिशत वहन कर रही है। इसमें आमजन द्वारा दी जाने वाली 10 प्रतिशत राशि भी राज्य सरकार वहन कर उन्हें राहत प्रदान कर रही है। 

कालीतीर लिफ्ट परियोजना से होंगे फायदे

बसेड़ी विधानसभा की सरमथुरा तहसील में कालीतीर लिफ्ट परियोजना के निर्माण में 643 करोड़ रुपए व्यय होंगे। चम्बल नदी में वर्षाकाल के दौरान अत्यधिक जल को लगभग 180 मीटर लिफ्ट कर पार्वती बांध और रामसागर बांध को हर वर्ष पूरी क्षमता तक भरा जाएगा। इससे कमांड क्षेत्र में सिंचाई की सुविधा सुनिश्चित हो सकेगी। इन बांधों के भरने से जिले की जीवनदायनी बामनी, पार्वती और उटंगन नदियों में हमेशा जल उपलब्ध रहेगा। इससे बसेड़ी विधानसभा क्षेत्र के 3, बाड़ी के 4, धौलपुर के 1 और राजाखेड़ा के 10 एनीकट में जलभराव संभव होगा। 

इस परियोजना से धौलपुर जिले के 3 शहरी और 433 ग्रामीण क्षेत्रों के लिए आवश्यक पेयजल भी उपलब्ध हो सकेगा। जिले का भूजल स्तर बढ़ने से किसानों को सिंचाई के लिए और आमजन व पशुओं के लिए पीने का पानी भी आसानी से सुलभ हो सकेगा। 

सिलावट एनीकट से कुओं, नलकूपों का बढ़ेगा जलस्तर

धौलपुर जिले की राजाखेड़ा तहसील के सिलावट गांव में उटंगन नदी पर 100 मीटर लम्बा और 2 मीटर ऊंचा एनीकट बनाया गया है। इसमें 0.54 मिलियन क्यूबिक मीटर जल भराव होता है। इस एनीकट के निर्माण से ग्राम सिलावट, जवाहर का पुरा, काटरपुरा और कसियापुरा के गांवों की 12 हजार जनसंख्या को लाभ मिलेगा। साथ ही आसपास के कुंओं, नलकूपों में जलस्तर बढ़ेगा। 

नवीनतम जानकारी और ख़बरों के लिये पढ़ते रहिए हिंदी दैनिक समाचार पत्र आम मत (AAMMAT.In)

सभी ताज़ा ख़बरें यहाँ पढ़ें
Follow Us: Facebook | YouTube | Twitter

और पढ़ें

संबंधित स्टोरीज

Back to top button