राजनीति खबरेंNewsराजस्थानराज्य

प्रदेश में महिला सशक्तिकरण के बेहतरीन कार्य हुए — ममता भूपेश

महिला सप्ताह समापन राज्यस्तरीय प्रोत्साहन एवं सम्मान समारोह प्रदेश में महिला सशक्तिकरण (Women Empowerment) के बेहतरीन कार्य हुए — महिला एवं बाल विकास मंत्री

महिला सप्ताह समापन राज्यस्तरीय प्रोत्साहन एवं सम्मान समारोह प्रदेश में महिला सशक्तिकरण (Women Empowerment) के बेहतरीन कार्य हुए — महिला एवं बाल विकास मंत्री

आम मत | जयपुर,

State Level Ceremony for Women Empowerment during Women’s Week on International Women’s Day in Rajasthan

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) के अवसर पर 8 मार्च से आयोजित महिला सप्ताह के कार्यक्रमों की श्रंखला में सातवें व अंतिम दिन मंगलवार (14 मार्च) को महिला अधिकारिता आयुक्तालय द्वारा जयपुर के झालाना स्थित अरण्य भवन में राज्य स्तरीय प्रोत्साहन एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।

Rajasthan News: Women Empowerment Programs in Rajasthan
Rajasthan News: Women Empowerment Programs in Rajasthan
महिला सप्ताह समापन राज्यस्तरीय प्रोत्साहन एवं सम्मान समारोह प्रदेश में महिला सशक्तिकरण (Women Empowerment) के बेहतरीन कार्य हुए — महिला एवं बाल विकास मंत्री
प्रदेश में महिला सशक्तिकरण के बेहतरीन कार्य हुए — ममता भूपेश 10

इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती ममता भूपेश ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में राज्य में महिला सशक्तिकरण (Women Empowerment) के बेहतरीन कार्य किए गए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश में इस के लिए एक हजार करोड़ की निधि घोषित की। इसके साथ ही महावारी स्वच्छता के दौरान होने वाली परेशानियों को समझते हुए आईएम शक्ति उड़ान योजना (I Am Shakti Yojna) शुरू कर एक करोड़ 51 लाख किशोरियों एवं महिलाओं को निःशुल्क सेनेटरी नैपकीन वितरण किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि विभिन्न प्रकार की योजनाओं और कार्यक्रमों से जैसी इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना, इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना से महिलाओं को सशक्त किया जा रहा है। महिलाओं को कम्प्यूटर शिक्षा और कौशल प्रशिक्षण (Computer Education and Skill Development for Women in Rajasthan) दिया जा रहा है।

Rajasthan News: Women Empowerment Programs in Rajasthan
महिला सप्ताह समापन राज्यस्तरीय प्रोत्साहन एवं सम्मान समारोह प्रदेश में महिला सशक्तिकरण (Women Empowerment) के बेहतरीन कार्य हुए — महिला एवं बाल विकास मंत्री
महिलाओं को कम्प्यूटर शिक्षा और कौशल प्रशिक्षण (Computer Education and Skill Development for Women in Rajasthan)
प्रदेश में महिला सशक्तिकरण के बेहतरीन कार्य हुए — ममता भूपेश 11

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के मानदेय में 45 प्रतिशत की बढोतरी की गई है। प्रदेश में कन्या भ्रूण हत्या के प्रति सामाजिक चेतना से पहले के मुकाबले बालिकाओं का लिंगानुपात बढ़कर 947 हो गया है, जो एक उपलब्धि है। आंगनबाड़ी केन्द्रों पर शाला पूर्व शिक्षा से 17 लाख छात्र-छात्राएं लाभान्वित हुई है। इसी प्रकार 2 लाख 4 हजार 603 ड्रॉप आउट बालिकाओं को स्कूलों से दोबारा जोड़ा गया है।

महिला एवं बाल विकास मंत्री ने कहा कि प्रदेश में हर क्षेत्र में महिलाओं के उत्थान के कार्य किए जा रहे हैं। हम सब को सरकार के साथ साथ सामाजिक और व्यक्तिगत स्तर पर
महिलाओं और बालिकाओं के लिए भय मुक्त वातावरण का निर्माण करना होगा जिससे हर दिन महिला दिवस हो। उन्होंने कहा कि राजस्थान को सुरक्षित तथा साइबर क्राइम मुक्त प्रदेश करना होगा।

उन्होंने कहा कि राज्य में महिला सशक्ति करण की बानगी है कि राज्य ब्यूरोक्रेसी की प्रमुख एक महिला श्रीमती उषा शर्मा हैं। उन्होंने कोरोना के दौरान अच्छा कार्य करने के लिए आंगनबाड़ी सहायिका और कार्यकर्ताओं के कार्य को अच्छा बताया।

Rajasthan News: Women Empowerment Programs in Rajasthan,
महिला सप्ताह समापन राज्यस्तरीय प्रोत्साहन एवं सम्मान समारोह प्रदेश में महिला सशक्तिकरण (Women Empowerment) के बेहतरीन कार्य हुए — महिला एवं बाल विकास मंत्री
प्रदेश में महिला सशक्तिकरण के बेहतरीन कार्य हुए — ममता भूपेश 12

पुरस्कार वितरण समारोह में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की राज्य स्तरीय ब्रांड अंबेसडर अवनि लेखरा ने कहा कि प्रत्येक बालिका और महिला का अधिकार है कि उनको राजनीतिक, सामाजिक व आर्थिक क्षेत्र सहित सभी क्षेत्रों में समान अवसर उपलब्ध हो जिसके आधार पर वें आगे बढ़ सकें। उन्होंने कहा कि अवसर मिलने का सुपरिणाम ही है कि मुझे पैरालंपिक खेलों में गोल्ड मेडल प्राप्त हुआ। उन्होंने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का राज्य ब्रांड एंबेसडर होने पर प्रसन्नता व्यक्त की।

इस अवसर पर उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री श्रीमती शकुंतला रावत ने कहा कि प्रदेश में सरकार की ओर से महिला कल्याण की अनेकों योजनाएं संचालित है। उन्होंने महिलाओं का आहृवाहन करते हुए कहा कि महिलाएं उद्योग विभाग, महिला अधिकारिता आयुक्तालय की योजनाओं से जुड़कर लाभान्वित हो सकती है।

पुरस्कार वितरण समारोह में राजस्थान राज्य खेल परिषद की अध्यक्ष डॉ कृष्णा पूनिया ने कहा कि बच्चियों को सशक्त बनाने के लिए उन्हें खेलों से जुड़ा जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि 2011 में वे राज्य की ब्रांड एंबेसडर थी और अभी अवनि लेखरा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की राज्य ब्रांड एंबेसडर है यह हमारे लिए गर्व की बात है।

इस अवसर पर समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष श्रीमती अर्चना शर्मा ने कहां कि हमें अवनि जैसी बेटियों पर गर्व है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के विजन के अनुसार प्रदेश में उड़ान योजना के तहत महिलाओं को निशुल्क सैनिटरी नैपकिन वितरित किए जा रहे है। उन्होंने कहा कि मैं जब यूके गई तो वहां पर एक सांसद ने मुझसे पूछा कि यह आश्चर्य की बात है कि किसी प्रदेश का पुरुष मुख्यमंत्री बालिकाओं महिलाओं को निशुल्क सेनेटरी नैपकिन वितरित करने की सोच रखता हो।

पुलिस महानिदेशक श्री उमेश मिश्रा ने समाज में व्याप्त लिंग भेद को इंगित करते हुए कहा कि हम सब ने ईश्वर की परिकल्पना भी पुरूष के रूप में की है,जिस विचार किया जाना चाहिए। इस धारणा को बदलते हुए महिलाओं को कला,विज्ञान और सांस्कृतिक विकास के समूचे अवसर प्रदान करने के लिए वातावरण तैयार करना होगा।

इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास प्रमुख शासन सचिव श्रीमती श्रेया गुहा,प्रधान मुख्य वन संरक्षक, डॉ. डी. एन. पाण्डेय भी उपस्थित रहे । वहीं कार्यक्रम की शुरूआत में महिला अधिकारिता आयुक्त श्री रामअवतार मीणा ने आगुतुंका का स्वागत उद्बोधन दिया।

Women’s Week: Indira Mahila Shakti Protsahan and Samman Yojana | इंदिरा महिला शक्ति प्रोत्साहन एवं सम्मान योजना में इनका हुआ सम्मान

महिला अधिकारिता आयुक्तालय द्वारा महिला सशक्तिकरण, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान, निशुल्क शिक्षा, महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण, शिक्षा, स्वास्थ्य जैसे विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करने के लिए 27 व्यक्तियों एवं संस्थाओं को पुरस्कृत किया गया। साथ ही 6 विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों को उत्कृष्ट कार्य के लिए योग्यता प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।

पुरस्कार की विभिन्न श्रेणियों में इंदिरा महिला शक्ति प्रोत्साहन योजना में सर्वाधिक संख्या में ऋण स्वीकृत करने वाले जिलाधिकारी के रूप में जिला कलेक्टर झुंझुनू श्री लक्ष्मण सिंह कुड़ी को पुरस्कृत किया गया। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना में प्रथम पुरस्कार जिला कलेक्टर हनुमानगढ़ श्रीमती रुकमणी रियार, द्वितीय पुरस्कार जिला कलेक्टर अलवर डॉ जितेंद्र कुमार सोनी एवं तृतीय पुरस्कार जिला कलेक्टर चूरू श्री सिद्धार्थ सिहाग को दिया गया।

महिला एवं बाल विकास विभाग की सहायक निदेशक श्रीमती सुनीता मीणा, सहायक निदेशक डॉ. जगदीश प्रसाद,

कार्यक्रम निदेशक श्रीमती राजकुमारी हाड़ा, संरक्षण अधिकारी श्री जयप्रकाश, प्रशासनिक अधिकारी श्री दिनेश कुमार शर्मा एवं वरिष्ठ सहायक श्री जितेंद्र कुमावत को भी विभिन्न क्षेत्रों में किए गए उत्कृष्ट कार्यों के लिए सम्मानित किया गया

दौसा जिले की श्रीमती सुनीता गुप्ता को महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए इंदिरा महिला शक्ति विशिष्ट सम्मान में 51 हजार रुपए, मोमेंटो एवं शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। माहवरी स्वास्थ्य एवं प्रबंधन, सेनेटरी नैपकिन उत्पादन, इंदिरा महिला शक्ति प्रोत्साहन योजना एवं अन्य श्रेणियों में भी पुरस्कार दिए गए।

नवीनतम जानकारी और ख़बरों के लिये पढ़ते रहिए हिंदी दैनिक समाचार पत्र आम मत (AAMMAT.In)

सभी ताज़ा ख़बरें यहाँ पढ़ें
प्रदेश में महिला सशक्तिकरण के बेहतरीन कार्य हुए — ममता भूपेश | google news follow aammat india

और पढ़ें

संबंधित स्टोरीज

Back to top button