InvestmentStartupवित्तीय समाचारव्यापार

NSE-MCap: बाजार में जारी है तेजी, BSE के बाद एनएसई का एम-कैप 4 ट्रिलियन डॉलर के पार..

Chotta Ludo
Cricket 2023
Fruit Slicer
Carrom Clash
Daily Solitaire
Candy World
Guns And Bottles
Stud Rider
Tiger Run
Street Basketball
Greedy Monkey
NSE-MCap आज शेयर बाजार के सभी सूचकांक हरे निशान पर कारोबार कर रहे हैं। सोमवार को एनएसई 200 अंक से 20500 अंक तक पहुंच गया है। इसी के साथ नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टिड कंपनियों का एम-कैप 4 ट्रिलियन के पार पहुंच गया है। वहीं 29 नवंबर 2023 (बुधवार) को बीएसई का एम-कैप 4 ट्रिलियन के पार पहुंच गया था।
 बिजनेस डेस्क, नई दिल्ली। आज शेयर बाजार बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है। शेयर मार्केट के सभी सूचकांक में तेजी देखने को मिली है। खबर लिखते वक्त निफ्टी 292.65 अंक या 1.44 फीसदी की बढ़त के साथ 20,560.55 अंक पर पहुंच गया है। इस तेजी के साथ ही एनएसई पर सूचीबद्ध कंपनियों के एम-कैप में तेजी देखने को मिली है।

हाल ही ने Nse की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक एनएसई पर लिस्टिड कंपनियों का बाजार पूंजीकरण पहली 4 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर (334.72 ट्रिलियन रुपये) के पार पहुंच गया है। आपको बता दें कि पिछले हफ्ते शुक्रवार को एनएसई 20,291.55 के अपने सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया था। आज भी एनएसई उच्चतम स्तर पर कारोबार कर रहा है।

शुक्रवार को निफ्टी-500 इंडेक्स भी 18,141.65 के सर्वकालिक उच्च स्तर को छू गया था। इसका मतलब है कि निफ्टी-500 इंडेक्स यह दर्शाता है कि इक्विटी बाजार की रैली केवल लार्ज-कैप शेयरों तक ही सीमित नहीं है।

एनएसई ने हाल में अपने बयान में कहा कि एनएसई के एम-कैप 4 ट्रिलियन के पार पहुंच जाना मील का पत्थर है। यह सार्वजनिक वित्त के साथ एक प्रौद्योगिकी-संचालित और ज्ञान-आधारित अर्थव्यवस्था और एक मजबूत वित्तीय सेक्टर को दर्शाता है।
आपको बता दें कि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) में सूचीबद्ध कंपनियों के बाजार पूंजीकरण को 2 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर के पास जुलाई 2017 में पहुंचा था। वहीं, मई 2021 में यह 3 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर के लगभग पहुंच गया था। इसी तरह 4 ट्रिलियन तक पहुंचने में एनएसई को लगभग 46 महीने लगे हैं।
यह भी पढ़ें- Kisan Credit Card: बेहद कम ब्याज पर किसानों को मिलेगा पैसा, जानें कैसे करें अप्लाई और जरूरी डॉक्यूमेंट

एनएसई के मुख्य व्यवसाय विकास अधिकारी श्रीराम कृष्णन ने कहा।

एनएसई सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 4 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर के आंकड़े को पार करना देश की 5 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था की यात्रा में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है। अर्थव्यवस्था में सकारात्मक भावना ने पूंजी बाजार को गति प्रदान की है।
आपको बता दें कि बाजार पूंजीकरण के हिसाब से एनएसई पर टॉप तीन कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL), टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) और एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) है।
एनएसई ने अपने बयान में कहा था कि भारत बाजार पूंजीकरण के आधार पर शीर्ष पांच देशों में से एक है। एनएसई पर सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण भारत की जीडीपी के मुकाबले 1.18 या 118 फीसदी है। यह संयुक्त राज्य अमेरिका (USA) या अमेरिका जैसे विकसित बाजारों की तुलना में कम है। जापान, “एनएसई ने बयान में कहा।

चालू वित्त वर्ष में एनएसई पर शेयर का कारोबार का वेग 47 फीसदी था। यह अमेरिका, जापान, दक्षिण कोरिया, चीन और ब्राजील जैसे कुछ वैश्विक बाजारों से काफी कम है। एक्सचेंज ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में इक्विटी सेगमेंट का दैनिक औसत टर्नओवर 6 गुना से अधिक बढ़ गया है और इक्विटी डेरिवेटिव्स का दैनिक औसत टर्नओवर 5 गुना से अधिक बढ़ गया है।
एनएसई ने चालू वित्त वर्ष में अक्टूबर 2023 तक इक्विटी और कॉरपोरेट बॉन्ड में प्राथमिक बाजारों के माध्यम से 5,00,000 करोड़ रुपये से अधिक जुटाए हैं। पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में इस वित्तीय वर्ष में दैनिक औसत कारोबार में इक्विटी सेगमेंट में 27 प्रतिशत और इक्विटी डेरिवेटिव में 5 प्रतिशत की साल-दर-साल वृद्धि देखी गई है।
यह भी पढ़ें- Password है Internet Banking का सुरक्षा कवच, नेट बैंकिंग को ज्यादा सिक्योर करने के लिए फॉलो करें ये टिप्स

बीएसई के एम-कैप में बढ़त

आपको बता दें कि पिछले हफ्ते 29 नवंबर 2023 (बुधवार) बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का बाजार पूंजीकरण भी 4 ट्रिलियन डॉलर के पार पहुंच गया था। बीएसई पर लिस्टिड कंपनी का मार्केट कैप पिछले 10 वर्षों में 17.5 प्रतिशत की चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (सीएजीआर) से बढ़ा है।

 

source
ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. AAMMAT.in पर विस्तार से पढ़ें व्यापार जगत की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

और पढ़ें

संबंधित स्टोरीज

Back to top button