जोधपुरः एक ही परिवार के 11 लोगों को जहर का इंजेक्शन देकर मारा!

Page Visited: 128
4 0
Read Time:3 Minute, 2 Second

आम मत | जोधपुर

राजस्थान के जोधपुर में एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत से सनसनी फैल गई। माना जा रहा है इन सभी को जहर देकर मारा गया है। 12 लोगों के परिवार में से सिर्फ एक व्यक्ति जिंदा बचा है। ये सभी पाकिस्तान से यहां आए थे।

पुलिस की शुरुआती जांच की मानें तो मौत का कारण पारिवारिक झगड़ा हो सकता है। हालांकि, मामले की जांच अभी बाकी है। ये हिंदू परिवार 3 महीने पहले ही पाकिस्तान से यहां आया था और खेती कर निर्वाह कर रहा था।

यह भी पढ़ेंः ईडी को शक, रिया-शोविक ने फर्जी कंपनियों के जरिए की है धोखाधड़ी

परिवार के जिंदा बचे एकमात्र सदस्य केवल राम के अनुसार, शनिवार को सभी खाने के बाद खेतों में घुसी नीलगाय भगाने गए थे। नींद आने के कारण वह खेत में ही सो गया। सुबह जब वह घर लौटा तो सभी की मौत हो चुकी थी। पुलिस को शवों के आस-पास से जहर की शीशियां और इंजेक्शन मिले हैं। केवल राम को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

पूछताछ में अभी तक यही पता चला है कि केवल और उसके भाई रवि की एक ही परिवार की दो बहनों से शादी हुई थी। वहीं केवल की दो बहनों ने पाकिस्तान से नर्सिंग की हुई है। बाकी दो का रिश्ता भी उसी परिवार में हुआ, जहां केवल-रवि का हुआ था।

परिवार की बेटी पर ही शक की सुई

घटना स्थल पर पुलिस को कुछ अहम सुराग अवश्य मिले, लेकिन वे इतने ठोस भी नहीं है कि पुलिस को किसी नतीजे तक पहुंचा दे। इसके बावजूद कई सवाल है जिनके जवाब अभी तक नहीं है। बुधाराम के परिवार में उसकी एक बेटी प्रिया नर्सिंग कर चुकी थी। वह बालेसर में एक निजी क्लिनिक में प्रेक्टिस कर रही थी। मृतकों में वह भी शामिल थी। मौके पर मिली सीरिंज से प्रिया की तरफ शक की सुई घूम रही है। क्योंकि इंजेक्शन लगाना उसे ही आता था। घटना स्थल से मिले सुसाइड नोट ने गुत्थी को और ज्यादा उलझा दिया। हालांकि पुलिस ने सुसाइड नोट के बारे में ज्यादा जानकारी शेयर नहीं की है। पाकिस्तान से आए इस परिवार के सदस्यों को हिन्दी लिखना नहीं आता था। सुसाइड नोट हिन्दी में लिखा हुआ है। 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *