पायलट से मुलाकात के दौरान राहुल बोले, अशोक गहलोत ही कांग्रेस नहीं

Page Visited: 70
2 0
Read Time:3 Minute, 35 Second

आम मत | नई दिल्ली

राजस्थान कांग्रेस में पिछले एक महीने से जारी सियासी खींचतान को लेकर सोमवार को सचिन पायलट से राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने मुलाकात की। पायलट से दोनों नेताओं ने सोमवार को सुबह और देर रात मुलाकात की। सूत्रों के मुताबिक, राहुल गांधी ने सचिन पायलट को आश्वस्त किया कि अशोक गहलोत ही कांग्रेस नहीं हैं। पार्टी ने पायलट के खिलाफ उनकी ताबड़तोड़ बयानबाजी को भी गंभीरता से लिया है।

सचिन पायलट को सीएम बनाने के लिए भी जल्द ही टाइमलाइन निर्धारित की जाएगी। इस मुलाकात के बाद सचिन पायलट गुट के कई विधायक जयपुर के लिए रवाना भी हो गए हैं। वहीं, भंवरलाल शर्मा ने मुख्यमंत्री निवास पहुंचकर अशोक गहलोत से मुलाकात भी की।

यह भी पढ़ेंः मीडिया से बोले पायलट, यह पद की नहीं आत्मसम्मान की लड़ाई थी

सियासी गलियारों में चर्चा है कि राजस्थान की इस सियासी खींचतान में प्रियंका गांधी वाड्रा संकटमोचक बनकर सामने आई हैं। राहुल गांधी से सचिन पायलट की मुलाकात भी प्रियंका गांधी की पहल पर हुई।

बंद होगी विधायक खरीद-फरोख्त जांच!

उधर, कांग्रेस विधायक भंवरलाल शर्मा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात की। मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद मीडिया से बातचीत में विधायक भंवरलाल शर्मा ने कहा कि गहलोत सरकार सेफ है और बहुमत में है। पार्टी अब जनता से किए वादों को पूरा करेगी। सूत्रों के मुताबिक, गहलोत ने पायलट खेमे को आश्वासन दिया कि अब किसी भी तरह की कोई भी पुलिस कार्रवाई नहीं की जाएगी। विधायकों के खरीद-फरोख्त के टेप कांड की जांच भी बंद होगी।

कांग्रेस के घटनाक्रम से हमारा होटल का खर्च बच गयाः पूनिया

इस पूरे समीकरण पर भाजपा अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने कहा कि कांग्रेस में हुए घटनाक्रम के बाद हमारा होटल क्राउन प्लाजा का खर्चा बच गया है। बीजेपी विधायक 11 अगस्त से होटल क्राउन प्लाजा में रहेंगे या नहीं, इस पर फैसला लिया जाएगा। हालांकि, अभी तक 20 विधायक पहले ही गुजरात भेजे जा चुके हैं।

वसुंधरा राजे 13 की जगह 11 को आएंगी जयपुर

कहा जा रहा है कि वसुंधरा राजे पहले 13 अगस्त को आने वाली थीं। मगर अब 11 अगस्त को विधायकों के साथ ही होटल पहुंचेंगी। माना जा रहा है कि इस बाड़ेबंदी के जरिये बीजेपी यह भी परखेगी कि जिस तरह की चर्चा हो रही है कि वसुंधरा गुट के कुछ विधायक कांग्रेस के साथ जा सकते हैं, इसमें कितनी सच्चाई है?

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *