भारत में सितंबर मध्य तक चरम पर पहुंच सकता है कोरोनाः प्रो. रेड्डी

कोरोना प्रसार
Page Visited: 275
5 0
Read Time:2 Minute, 25 Second

आम मत | नई दिल्ली

भारत में कोरोना के मामलों में लगातार तेजी आती जा रही है। इसे देखते हुए पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया के चीफ प्रो.के.श्रीनाथ रेड्डी के अनुसार, देश में कोरोना सितंबर के मध्य तक चरम पर पहुंच सकता है। उन्होंने कहा कि वायरस को गांवों में फैलने से रोकना चाहिए।

प्रो. रेड्डी के मुताबिक, वायरस पहले के मुकाबले बहुत तेजी से फैल रहा है। हम इसे इस स्तर पर पहुंचने से रोक सकते थे। हालांकि, अभी भी हम अपनी सर्वश्रेष्ठ कोशिश के जरिए इसके प्रसार को रोक सकते हैं। उन्होंने कहा कि अलग-अलग राज्यों में संक्रमण के चरम पर पहुंचने का समय अलग-अलग होगा।’

हालांकि, उन्होंने कहा कि यदि जन स्वास्थ्य के लिए बेहतर उपाय किए जाते हैं और यदि लोग मास्क पहनने तथा आपस में दूरी रखने जैसे एहतियात बरतते हैं तो कोविड-19 के मामले कम से कम दो महीने में अपने चरम पर होंगे। डॉ. रेड्डी ने कहा कि संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों का कहीं अधिक तत्परता से पता लगाया जाना, कोरोना के लक्षणों वाले लोगों का घर-घर जाकर पता लगाना, उनकी शीघ्रता से जांच कराने, ये सभी उपाय कहीं और अधिक किए जा सकते थे।

रेड्डी ने कहा कि वे सभी ऐहतियात, जन स्वास्थ्य उपाय, सार्वजनिक स्थानों पर व्यवहार संबंधी व्यक्तिगत ऐहतियाती उपाय, तब से नजरअंदाज किए जाने लगे और लॉकडाउन पूरी तरह से हटने के बाद वे और अधिक नजरअंदाज कर दिए गए।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में हृदय रोग विभागाध्यक्ष रह चुके रेड्डी ने कहा कि दूसरे चरण के लॉकडाउन तक नियंत्रण के उपाय बहुत सख्त थे क्योंकि भारत ने वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने की कोशिश की।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement