GST काउंसिल की 41वीं बैठक, राज्यों को कंपनसेशन के लिए दिए गए दो विकल्प

Page Visited: 284
1 0
Read Time:2 Minute, 41 Second

आम मत | नई दिल्ली

गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (जीएसटी) काउंसिल की 41वीं बैठक गुरुवार को हुई। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कोरोना की वजह से जीएसटी कलेक्शन कम हुआ है। वित्त वर्ष 2021 में जीएसटी कलेक्शन में 2.35 लाख करोड़ रुपए की कमी रह सकती है। उन्होंने कोविड को एक्ट ऑफ गॉड बताया।

राज्यों को दिए जाने वाले कंपनसेशन (बकाया भुगतान) पर चर्चा हुई। वित्त मंत्री ने बताया कि राज्यों को कंपनसेशन के दो विकल्प दिए गए। इन दोनों विकल्पों पर विचार के लिए राज्यों ने एक हफ्ते का वक्त मांगा। कंपनसेशन की यह व्यवस्था वित्त वर्ष 2021 के लिए रहेगी। वित्त सचिव ने वित्त वर्ष 2021 में 65 हजार करोड़ रुपए के कंपनसेशन सेस कलेक्शन की उम्मीद जताई।

ये हैं दो विकल्प

  • पहला: केंद्र उधार लेकर भुगतान करे।
  • दूसरा: राज्य खुद आरबीआई से उधार लें।
प्रतिकात्मक

वित्त सचिव ने कहा- जीएसटी दर बढ़ाने पर चर्चा नहीं
वित्त सचिव ने बताया कि जीएसटी दरों में बढ़ोतरी को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई है। वित्त सचिव ने चालू वित्त वर्ष में 3 लाख करोड़ रुपए के कंपनसेशन कलेक्शन की उम्मीद जताई है। वित्त सचिव ने बताया कि राज्यों के जीएसटी कंपनसेशन के लिए अप्रैल से जुलाई अवधि का 1.5 लाख करोड़ रुपए बकाया है।

बैठक में कोई बड़ा फैसला नहीं हो सका। उम्मीद जताई जा रही थी कि काउंसिल दोपहिया वाहनों पर टैक्स कटौती को लेकर फैसला कर सकती है। वित्त मंत्री निर्मला ने बताया कि दोपहिया वाहनों पर टैक्स कटौती को लेकर कोई टाइमलाइन तय नहीं है। अब संभावना जताई जा रही है कि काउंसिल की अगली बैठक में इस पर विचार हो सकता है। जीएसटी काउंसिल की अगली बैठक सितंबर में होगी।

व्यापार से संबंधित खबरों के लिए सब्सक्राइब करें
आम मत

Share
Previous post तुर्की के खिलाफ UAE का बड़ा कदम, ग्रीस के साथ करेगा सैन्य अभ्यास
भारत का सुप्रीम कोर्ट Next post मुहर्रम पर मातमी जुलूस निकालने की सुप्रीम कोर्ट ने नहीं दी इजाजत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement