खुलासाः हिजबुल प्रमुख सलाहुद्दीन है पाक खुफिया एजेंसी ISI का अधिकारी

हिजबुल प्रमुख सलाहुद्दीन
Page Visited: 412
1 0
Read Time:2 Minute, 50 Second

– भारतीय खुफिया एजेंसियों को हासिल हुए अहम दस्तावेज
– FATF की बैठक में बढ़ सकती हैं पाकिस्तान की मुश्किलें

आम मत | नई दिल्ली

भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने एक दस्तावेज हासिल किया है, जो पाकिस्तान की इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) के साथ आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन प्रमुख सलाहुद्दीन की निकटता की पुष्टि करता है। अक्टूबर में होने वाली एफएटीएफ (FATF) यानी फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की बैठक से पहले हासिल हुआ यह दस्तावेज पाकिस्तान के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है। इन दस्तावेजों में हिजबुल प्रमुख सलाहुद्दीन को ISI का अधिकारी बताया गया है। यह कागजात उसे पाकिस्तान में बिना रोक-टोक घूमने की इजाजत देने के लिए बनाया गया है।

यह लिखा है ISI के कागजात में

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, निदेशक/कमांडिंग अधिकारी वजाहत अली खान के नाम से जारी पत्र में कहा गया कि ‘यह प्रमाणित है कि सैयद मोहम्मद यूसुफ शाह, इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई, इस्लामाबाद) के साथ काम कर रहे हैं। वह इस विभाग के अधिकारी हैं। हिजबुल प्रमुख सलाहुद्दीन के वाहन का विवरण साझा करते हुए निर्देश दिए है कि उन्हें सुरक्षा की मंजूरी दे दी गई है और अनावश्यक रूप से रोका नहीं जाना चाहिए।’

हिजबुल प्रमुख सलाहुद्दीन
हिजबुल प्रमुख सलाहुद्दीन को ISI का अधिकारी बताया

इस पत्र में यूसुफ शाह को हिजबुल मुजाहिद्दीन का अमीर यानी मुखिया बताया गया है। सैयद सलाहुद्दीन का एक नाम सैयद मोहम्मद यूसुफ शाह भी है, उसके लिए जारी किया पत्र 31 दिसंबर, 2020 तक मान्य है। सैयद सलाहुद्दीन, हिजबुल मुजाहिद्दीन का प्रमुख होने के अलावा, वह संयुक्त जिहाद परिषद (यूजेसी) का भी प्रमुख है जो कई आतंकवादी समूहों का पैतृक संगठन है। यूजेसी में लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठन शामिल हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement