सुशांत केसः शोविक-सैमुअल 4 दिन की रिमांड पर, एनसीबी का रिया को समन

Page Visited: 627
2 0
Read Time:3 Minute, 19 Second
– ड्रग्स मामले में अब तक 6 लोग किए जा चुके हैं गिरफ्तार
– सुशांत का हाउस हेल्पर दीपेश सावंत बनेगा सरकारी गवाह
– रिया-शोविक को दीपेश के सामने बैठाकर हो सकती है पूछताछ

आम मत | मुंबई

सुशांत सिंह मामले में शनिवार को रिया चक्रवर्ती के भाई शोविक, सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा को किला कोर्ट ने रिमांड में भेजा दिया। नारकोटिक्स ने कोर्ट से दोनों की 7 दिन की रिमांड देने की मांग की थी। कोर्ट ने दोनों को 4 दिन यानी 9 सितंबर तक रिमांड में भेजा। एनसीबी ने शोविक-सैमुअल के अलावा कैजन इब्राहिम को भी कोर्ट में पेश किया था। कैजन को जमानत मिल गई।

वहीं, एनसीबी ने ड्रग्स मामले में पूछताछ के लिए समन भेजा। रिया रविवार को एनसीबी के सामने पेश होंगी। इधर, एनसीबी ने ड्रग एंगल में सुशांत के घर के हेल्पर दीपेश सावंत को भी गिरफ्तार किया है। मामले में दीपेश सरकारी गवाह बनेगा। इसके लिए उसकी गिरफ्तारी की गई है। रविवार को गवाह बनने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

अब तक कुल 6 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। NCB के अधिकारी मुथा अशोक जैन ने बताया कि रिया और शोविक का सामना दीपेश सिंह से करवाया जाएगा। उधर, सीबीआई और एम्स की टीम शनिवार को सुशांत के बांद्रा वाले घर पहुंची थी। यहां डेढ़ घंटे तक वीडियोग्राफी की गई। यहां सुशांत की बहन मीतू सिंह भी मौजूद थीं।

रिया के पिता ने तोड़ी चुप्पी, बधाई हो इंडिया, आपने मध्यमवर्गीय परिवार को ध्वस्त कर दिया

रिया के पिता रिटायर्ड लेफ्टिनेंट कर्नल इंद्रजीत बेटे शोविक चक्रवर्ती की गिरफ्तारी पर चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि बेटे की गिरफ्तारी के बाद अब अगला नंबर बेटी का है। आपने एक मध्यम वर्गीय परिवार को प्रभारी रूप से ध्वस्त कर दिया है, लेकिन न्याय के लिए सब जायज है।

जानकारी के मुताबिक, रिया चक्रवर्ती के पिता ने कहा, ‘बधाई हो इंडिया, आपने मेरे बेटे को गिरफ्तार किया है, मुझे यकीन है कि अगला नंबर मेरी बेटी का है। मुझे नहीं पता कि उसके बाद कौन है। आपने एक मध्यम वर्गीय परिवार को प्रभावी रूप से ध्वस्त कर दिया है। बेशक, न्याय के लिए सब कुछ जायज है। जय हिंद’

Share
Previous post चीन के रक्षामंत्री से मिले राजनाथ, बोले- भारत की संप्रभुता से नहीं होगा कोई समझौता
दुनिया में निवेश का हॉटस्पॉट बन सकता है भारतः सीतारमण Next post वित्त मंत्रालय की सफाई, सरकारी भर्तियों पर नहीं लगाई कोई रोक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement