अध्यात्मराष्ट्रीय खबरें

महाछठः डूबते सूरज को दिया अर्घ्य, घाटों पर सोशल डिस्टेंसिंग की गई पालना

आम मत | नई दिल्ली

महाछठ पर्व के तीसरे दिन शुक्रवार को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया गया। पटना, भोपाल, कोलकाता, अगरतला, गुवाहाटी और जबलपुर जैसी कई जगहों पर छठ महापर्व की धूम देखने को मिली। दिल्ली-एनसीआर में भी महिलाओं ने डूबते सूर्य को अर्घ्य देकर छठ का महापर्व मनाया।

कोरोना की वजह से व्रतियों ने छठ घाटों पर जाने से परहेज किया और घर की छतों पर ही अर्घ्य दिया। सूर्य को अर्घ्य दिए बिना छठ की पूजा पूरी नहीं मानी जाती है। महिलाएं अर्घ्य देने के बाद एक-दूसरे को सिंदूर लगाती है। शनिवार को उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा।

इधर, बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार अपने सरकारी आवास में स्‍वजनों के साथ छठ पूजा में शामिल हुए। वहीं उपमुख्‍यमंत्री तार किशोर प्रसाद ने कटिहार में तो रेणु देवी ने पटना में छठ की पूजा की। पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने खुद अपने हाथों से मिट्टी के चूल्‍हे पर छठ का प्रसाद बनाया।

महाछठः डूबते सूरज को दिया अर्घ्य, घाटों पर सोशल डिस्टेंसिंग की गई पालना | Mahachhath 1
महाछठः डूबते सूरज को दिया अर्घ्य, घाटों पर सोशल डिस्टेंसिंग की गई पालना 7

अच्‍छी बात यह है कि लोग स्‍वयं भी कोरोना से बचाव के साथ पर्व को उल्‍लास से मना रहे हैं। बड़ी संख्‍या में लोगों ने घरों में ही भगवान भास्‍कर को अर्घ देने की तैयारी की है तो प्रशासन की ओर से भी राजधानी पटना के 84 घाटों पर एहतियात के साथ सूर्य उपासना की तैयारी की गई।

घाटों पर साफ-सफाई से लेकर आकर्षक रोशनी की व्‍यवस्‍था की गई। पूरी राजधानी में स्‍वच्‍छता का विशेष ध्‍यान रखा गया है।

और पढ़ें

संबंधित स्टोरीज

Back to top button