राष्ट्रीय खबरें

बिहारः बाढ़ के पानी ने पहुंचाया नुकसान, झुक गया अशोक स्तंभ!

आम मत | मुजफ्फरपुर

बिहार में बाढ़ ने काफी नुकसान किया, लेकिन एक नुकसान पूरे भारत के लिए चिंता का विषय बन गया है। जानकारी के अनुसार, बिहार के मुजफ्फरनगर के सरैया स्थित ऐतिहासिक अशोक स्तंभ और बौद्ध स्तूप परिसर में बाढ़ का पानी फैला हुआ है। कोल्हुआ में बने इस प्रांगण में गुप्त, शुंग और कुशान साम्राज्य के चिन्ह मिलते हैं।

पुरातत्व विभाग की मानें तो बाढ़ का पानी अंदर तक भर जाने से कई सारे महत्त्वपूर्ण खंभों पर उसका असर साफ देखा जा सकता है। पानी से इन खंभों को नुकसान पहुंच रहा है। कोल्हुआ बौद्ध स्तूप परिसर की अपेक्षा आसपास की जमीन ऊंची है। इस वजह से बारिश में चारों ओर का पानी अशोक स्तंभ-बौद्ध स्तूप परिसर में चला आता है। बाढ़ के पानी से यहां स्थित तालाब और छोटे-छोटे स्तूप तक पानी में डूब गए हैं।

उल्लेखनीय है कि इस स्तंभ का निर्माण मौर्य वंश के सम्राट अशोक ने कराया था। कलिंग युद्ध के बाद अशोक बौद्ध धर्म के अनुयायी बन गए थे और वैशाली में एक अशोक स्तंभ बनवाया था। भगवान बुद्ध ने वैशाली में अपना अंतिम उपदेश दिया था। उसी की याद में यह स्तंभ बनवाया था। वैशाली स्थित अशोक स्तंभ अन्य स्तंभों से काफी अलग है।

स्तंभ के शीर्ष पर त्रुटिपूर्ण तरीके से एक सिंह की आकृति बनी है, जिसका मुंह उत्तर दिशा में है। इसे भगवान बुद्ध की अंतिम यात्रा की दिशा माना जाता है।

और पढ़ें

संबंधित स्टोरीज

Back to top button