राष्ट्रीय खबरेंप्रमुख खबरें

किसान आंदोलनः दिल्ली के बॉर्डर दिनभर रहे सील, पंजाब-हरियाणा में भी दिखा व्यापक असर

आम मत | नई दिल्ली

नए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली चलो मार्च के मद्देनजर गुरुवार को पूरे दिन राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की सीमाएं सील रहीं। हरियाणा से लगती सीमाओं पर अतिरिक्त जाब्ता के अलावा दिल्ली की सभी सीमाएं पूरी तरह सील रहीं। इस दौरान किसी भी वाहन को आने जाने नहीं दिया गया। वहीं, पैदल आने वालों की भी जांच कर ही दिल्ली में प्रवेश दिया गया।

पंजाब से लेकर हरियाणा तक किसानों के विरोध प्रदर्शन का व्यापक असर दिखा। अंबाला बॉर्डर पर किसान और पुलिस आमने-सामने आए। जहां लाठीचार्ज, पानी की बौछार, आंसू गैस का इस्तेमाल किया गया तो वहीं किसानों ने भी पथराव किया।

दूसरी ओर, हालांकि, पंजाब से दिल्ली की ओर चले किसानों को हरियाणा में अलग-अलग जगहों रोक लिया गया, लेकिन इन किसानों के समर्थन में आसपास के कुछ किसान दिल्ली की सीमाओं पर पहुंचते रहे।

उन्हें दिल्ली में नहीं घुसने दिया गया। सुरक्षा में चूक न हो, इसके लिए दिनभर दिल्ली पुलिस लगातार हरियाणा और यूपी पुलिस के संपर्क में रही। वहीं, सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए दिल्ली पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव सिंघु बॉर्डर पहुंचे। उन्होंने मीडिया के जरिए किसानों से वापस लौटने की अपील की।

और पढ़ें

संबंधित स्टोरीज

Back to top button