संपादकीय

किसानों के हत्थे चढ़े युवक का दावा- ट्रैक्टर रैली के दौरान 4 किसान नेताओं की हत्या के थे निर्देश

आम मत | नई दिल्ली

सरकार से 11वें दौर की वार्ता नाकामयाब होने के बाद किसान संगठनों ने आंदोलन में हिंसा की साजिश रचने का दावा किया। किसान आंदोलन की सुरक्षा समिति ने शुक्रवार की रात सिंघु बॉर्डर से एक व्यक्ति को पकड़ा। किसान नेता इसे मीडिया के सामने लेकर आए, जहां उसने कहा कि उसे 26 जनवरी को होने वाले ट्रैक्टर मार्च के दिन 4 किसान नेताओं को गोली मारने के निर्देश दिए गए थे। शख्स ने बताया, ”हमारा प्लान यह था कि जैसे ही किसान ट्रैक्टर मार्च को लेकर दिल्ली के अंदर घुसने की कोशिश करेंगे तो दिल्ली पुलिस इन्हें रोकेगी।

इसके बाद हम पीछे से फायरिंग करेंगे ताकि पुलिस को लगे की गोली किसानों की तरफ से चलाई गई है। शख्स ने आगे कहा, ”रैली के दौरान कुछ लोग पुलिस की वर्दी में भी होंगे ताकि किसानों को तितर बितर किया जा सके। उसने आगे कहा, ‘ट्रैक्टर रैली में गैंग के आधे लोग पुलिस की वर्दी में होंगे, जो किसानों को तितर-बितर करेंगे।

इसके बाद मंच पर जो 4 लोग (किसान नेता) होंगे, उन्हें शूट करने का प्लान है। 4 लोगों की फोटो हमें दे दी गई हैं। जिसने हमें ये काम सौंपा, उसका नाम प्रदीप सिंह है, वो थाने का एसएचओ है। हमने उसे कभी थाने के आगे नहीं देखा है। जब भी हमसे मिलने आता था, वो चेहरा कवर करके आता था। हमने उसे नहीं देखा, पर उसका बैज देखा है। जिन लोगों को मारना था, उनका नाम हमें नहीं पता, उनके फोटो हमारे पास थे।

और पढ़ें

संबंधित स्टोरीज

Back to top button