रिया की बेल पर फैसला आज, वकील ने कहा- मेरे मुव्वकिल को फंसा रही NCB

Page Visited: 327
4 0
Read Time:2 Minute, 48 Second

आम मत | मुंबई

सुशांत केस में आए ड्रग एंगर में लोअर कोर्ट से जमानत अर्जी खारिज होने के बाद रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शौविक ने सेशन कोर्ट में जमानत के लिए याचिका दायर की। सेशन कोर्ट ने शुक्रवार तक के लिए फैसला सुरक्षित रख लिया। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने दोनों को याचिका का विरोध किया है। NCB ने कहा कि यह सही है कि इस मामले में जब्त की गई ड्रग्स की मात्रा कम है, लेकिन फिर भी इसकी कीमत 1 लाख 85 हजार रुपए है। एनसीबी ने दलील दी कि रिया ने खुद सुशांत को ड्रग्स उपलब्ध कराने की बात कबूल की है।

वहीं, रिया ने बेल याचिका में लिखा कि ऐसा करने के लिए उन पर दबाव बनाया गया था। रिया-शौविक के वकील सतीश मानशिंदे ने कोर्ट में कहा कि एनसीबी उनके मुव्वकिल को फंसा रही है। मानशिंदे ने यह भी कहा कि जिस समय एनसीबी रिया से पूछताछ कर रही थी, उस दौरान कोई महिला अधिकारी वहां मौजूद नहीं थी।

दूसरी ओर एनसीबी ने दलील दी कि रिया के खिलाफ इलेक्ट्रॉनिक्स एविडेंस है। साथ ही, मामले में गिरफ्तार कई लोगों ने रिया से संपर्क की बात कबूल की है। उल्लेखनीय है कि मंगलवार को एसीबी ने रिया को गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद लोअर कोर्ट में रिया की ओर से जमानत याचिका दायर की गई। इसे कोर्ट ने खारिज कर दिया और 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इसके बाद बुधवार को रिया चक्रवर्ती को भायखला जेल में शिफ्ट कर दिया गया।

कैसा रहा रिया का जेल में पहला दिन

जानकारी के अनुसार, रिया को बैरक नंबर एक के लॉकअप में रखा गया है। उनके बगल वाली बैरक में शीना बोरा हत्याकांड में गिरफ्तार इंद्राणी मुखर्जी बंद हैं। सूत्रों की मानें तो रिया ने सिर्फ जेल कर्मचारियों से बात की। बैरक में बेड नहीं होने के कारण रिया जमीन पर ही सोई। वह रात में कई बार उठीं और ठीक से सो नहीं पाई।

Share
चौमूं में चरागाह की जमीन के पट्टे कर दिए जारी Previous post जयपुरः आम मत की खबर का असर; JDA की निकली जमीन, अब होगी कार्रवाई
भारत का सुप्रीम कोर्ट Next post लोन मोरेटोरियमः सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को ठोस फैसले के लिए 2 सप्ताह का दिया समय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement