प्रमुख खबरेंएंटरटेनमेंट

राजकीय सम्मान के साथ हुआ एसपी बालासुब्रमण्यम का अंतिम संस्कार

आम मत | चेन्नई

आजा शाम होने आई….., सुरमई अंखियों में नन्हा मुन्ना….., जैसे गानों के अपनी मधुर आवाज से सजाने वाले गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का शुक्रवार को निधन हो गया। वे 74 वर्ष थे। एसपी बालासुब्रमण्यम का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार हो गया। उनके पार्थिव शरीर को तिरुवल्लूर जिले के तमराइपक्कम ले जाया गया, जहां उन्हें अंतिम विदाई दी गई। इस दौरान बंदूकों की सलामी भी दी गई।

एसपी बालासुब्रमण्यम के आखिरी दर्शन के लिए साउथ फिल्म इंडस्ट्री के कई बड़े सितारे पहुंचे। साथ ही राजनेता भी उन्हें श्रद्धांजलि देते नजर आए। उनका पार्थिव शरीर शुक्रवार रात चेन्नई के बाहर रेड हिल्स पर स्थित उनके फार्महाउस पर पहुंचा था। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने शुक्रवार को कहा था कि प्रसिद्ध गायक एस पी बालासुब्रमण्यम का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा।

राजकीय सम्मान के साथ हुआ एसपी बालासुब्रमण्यम का अंतिम संस्कार | balasubramanian
राजकीय सम्मान के साथ हुआ एसपी बालासुब्रमण्यम का अंतिम संस्कार 7

गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज है बालासुब्रमण्यम

एसपी बालासुब्रमण्यम का नाम गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज है। उन्होंने भारत की 16 भाषाओं में करीब 40 हजार से ज्यादा गाने गाए थे। 8 फरवरी 1981 को बालासुब्रमण्यम ने 12 घंटों में लगातार 21 गाने रिकॉर्ड किए थे, जोकि अपने आप में एक रिकॉर्ड है। उन्होंने एक दिन में 19 तमिल गाने और 16 हिंदी गाने भी रिकॉर्ड किए थे। वे 2001 में पद्मश्री और 2011 में पद्म विभूषण से भी नवाजे जा चुके थे।

5 अगस्त को पाए गए थे कोरोना पॉजिटिव

बता दें कि बीते कुछ दिनों से उनकी की तबियत ठीक नहीं थी। उन्हें लाइफ सपोर्ट पर रखा गया था। एसपी 5 अगस्त को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके बाद उन्हें चेन्नई के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 13 सितंबर को उनका कोरोना टेस्ट निगेटिव पाया गया था।

और पढ़ें

संबंधित स्टोरीज

Back to top button