पंजाबNewsअध्यात्मप्रमुख खबरें

सिख कौम का श्री अकाल तख्त की अगुवाई में एकजुट होने का आह्वान: जत्थेदार

आम मत | अमृतसर (Amritsar City News): श्री दरबार साहिब पर साल 1984 में हुई सैनिक कार्रवाई ‘आपरेशन ब्लूस्टार’ को चिह्नित करने के लिए मंगलवार को श्री अकाल तख्त साहिब पर कीर्तन का आयोजन किया गया।

श्री अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने एक संदेश जारी कर सिख कौम को श्री अकाल तख्त की अगुवाई में एकजुट होने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि सिख कौम तथा धार्मिक संस्थाएं इस समय बुरी तरह विभाजित हैं, इन्हें श्री अकाल तख्त की अगुवाई में इकट्ठा करना समय की जरूरत है। उन्होंने कहा कि एकता के लिए जरूरी है कि सिख संगठनों एवं अकाली दलों को मतभेद दूर करने होंगे।

जत्थेदार ने अपने संबोधन में बिखरी हुई शक्ति को एकजुट करके सरकारों के खिलाफ संघर्ष शुरू करने की घोषणा की। जत्थेदार ने कहा है कि सरकारों से न्याय की उम्मीद नहीं की जा सकती। सिखों को राजनीतिक तथा आर्थिक तौर से मजबूत होते हुए खुद ही इंसाफ के लिए संघर्ष शुरू करना पड़ेगा।

इस अवसर पर ऑपरेशन ब्लू स्टार (Operation Blue Star) के दौरान देश की एकता और अखंडता को कायम रखते हुए शहीद हुए सुरक्षाबलों के जवानों तथा निर्दोष लोगों की आत्मिक शांति के लिए शिव सैनिकों द्वारा हवन यज्ञ करवा कर ‘शहीदों’ को श्रद्धांजलि दी गई। किसी भी प्रकार की गड़बड़ी को रोकने के लिए पुलिस की तरफ से श्री हरिमंदिर साहिब के आसपास सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। प्रशासन की तरफ से यहां पहले से ही अर्धसैनिक बल चार कंपनियां और भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। एसजीपीसी ने समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों की छह जून को छुट्टी रद्द कर दी है।

यूथ फेडरेशन के कार्यकर्ताओं ने श्री हरिमंदिर साहिब परिसर में आपत्तिजनक नारे लगाए। शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) के अध्यक्ष सिमरनजीत सिंह मान भी श्री अकाल तख्त साहिब पर पहुंचे हुए थे। सरबत खालसा के जत्थेदार ध्यान सिंह मंड अलग से श्री अकाल तख्त साहिब से संगत को अपना संदेश दे रहे थे। श्री हरिमंदिर साहिब के हैंड ग्रंथी की ओर से हुकुमनामा पढ़ा गया।

Latest Amritsar City News and Updates
सिख कौम का श्री अकाल तख्त की अगुवाई में एकजुट होने का आह्वान: जत्थेदार | google news follow aammat india

नवीनतम जानकारी और ख़बरों के लिये पढ़ते रहिए हिंदी दैनिक समाचार पत्र आम मत (AAMMAT.In)

सभी ताज़ा ख़बरें यहाँ पढ़ें
Follow Us: Facebook | YouTube | Twitter

और पढ़ें

संबंधित स्टोरीज

Back to top button