अपराधराष्ट्रीय खबरें

लाल किला वाली घटना किसान संगठन को बदनाम करने की साजिश, पुलिस जिम्मेदारः टिकैत

आम मत | नई दिल्ली

गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली के दौरान लाल किला पर हुई घटना पर संयुक्त किसान मोर्चा ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि लाल किला पर हुई घटना किसान संगठन को बदनाम करने की बड़ी साजिश थी। पुलिस ने गोली क्यों नहीं चलाई?

उन्होंने कहा कि पंजाब को देश से अलग करने की साजिश थी। उन्होंने मामले के लिए पुलिस को दोषी ठहराया। टिकैत ने कहा कि प्रदर्शनकारियों को लाल किला तक जाने का रास्ता मुहैया कराया गया। कोई लाल किला तक चला जाएं और पुलिस की एक गोली भी वहां न चले?

वहीं, अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव हन्नान मोल्लाह ने कहा कि किसान आंदोलन को पहले दिन से ही बदनाम करना शुरू किया गया। 70 करोड़ किसान जो मेहनत कर देश को अन्न देता है वह देशद्रोही है। इस तरह देशद्रोही बोलने की हिम्मत किसकी होती है, जो देशद्रोही होता है, वही किसानों को देशद्रोही बोलते हैं।

संयुक्त किसान मोर्चा ने जानकारी दी कि किसानों का 1 फरवरी को होने वाला संसद मार्च स्थगित कर दिया है। 1 फरवरी को किसान संगठन तीनों कृषि कानूनों के विरोध में संसद की पैदल मार्च करने वाले थे।

Show More

Related Articles

Back to top button