हाथरस कांडः PFI को जातीय दंगे फैलाने के लिए मिली थी 100 करोड़ की फंडिंग

PFI Activist
Page Visited: 301
1 0
Read Time:1 Minute, 52 Second

आम मत | नई दिल्ली

हाथरस गैंगरेप मामले में जातीय हिंसा फैलाने को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। इस बार का खुलासा पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) को लेकर हुआ है। सूत्रों के अनुसार, पीएफआई को हाथरस कांड के बहाने जातीय दंगे फैलाने के लिए 100 करोड़ रुपए की फंडिंग मिली थी। इन 100 करोड़ में से 50 करोड़ रुपए मॉरिशस से आए थे।

शुरुआती जांच में सामने आया कि दंगे फैलाने और फिर बचकर भागने के टिप्स बताने वाली वेबसाइट justice for hathras से भी मथुरा से पकड़े गए PFI के चारों कार्यकर्ताओं का कनेक्शन है। यह भी पता चला कि कुछ लोग carrd.co वेबसाइट के जरिए फंड जुटाने की कोशिश कर रहे हैं। विदेशों से मिलने वाली फंडिंग का इस्तेमाल दंगे भड़काने में किया जाता है।
उल्लेखनीय है कि PFI वही संगठन है जिसका नाम दिल्ली में सीएए के विरोध में हुए दंगों में भी आया था।

PFI के 4 कार्यकर्ताओं को 14 दिन की जेल

मथुरा से पकड़े गए पीएफआई के 4 कार्यकर्ता के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है। इनके पास 6 स्मार्टफोन, एक लैपटॉप, ‘जस्टिस फॉर हाथरस विक्टिम’ और Am I not India’s daughter, made with Carrd लिखे हुए पम्पलेट मिले थे। स्थानीय कोर्ट ने चारों आरोपियों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement