राजस्थानः शिक्षक भर्ती को लेकर चौथे दिन जारी रहा हिंसक प्रदर्शन

Page Visited: 249
0 0
Read Time:3 Minute, 40 Second

आम मत | डूंगरपुर | जयपुर

राजस्थान में शिक्षक भर्ती में अनारक्षित पदों को एसटी उम्मीदवारों से भरने की मांग को लेकर चौथे दिन भी हिंसक प्रदर्शन जारी रहा। उदयपुर के खेरवाड़ा में प्रदर्शनकारियों ने पहाड़ियों पर कब्जा जमा लिया। इस बीच, आदिवासी जनप्रतिनिधियों के साथ अफसरों ने बैठक की। जयपुर से आए के बड़े अफसर स्थिति काबू करने में जुटे रहे।

वहीं, खेरवाड़ा में हुई फायरिंग में दो लोगों की मौत की सूचना है। हालांकि, अभी तक आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई। 3300 लोगों पर केस दर्ज हो चुका है। प्रदर्शनकारियों ने अभी भी उदयपुर-अहमदाबाद हाईवे को बहाल नहीं होने दिया है। डूंगरपुर के पास दोवड़ा में कॉलोनी में खड़े एक पिकअप वाहन में आग लगा दी। कंजड़ी घाटी में छोटी पहाड़ियों पर आदिवासी युवा चढ़े।

सीएम ने बैठक की, कहा- हिंसा छोड़ें प्रदर्शनकारी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को शिक्षा मंत्री गोविंद डोटासरा, सीएस राजीव स्वरूप, डीजीपी भूपेंद्र सिंह, प्रमुख सचिव (गृह) अभय कुमार, डीजी अपराध एमएल लाठर समेत अफसरों के साथ बैठक की। गहलोत ने कहा- सरकार किसी भी वर्ग की न्यायोचित मांगों पर विचार करने और चर्चा के लिए हर समय तैयार हैं। स्टूडेंट्स और नौजवानों से अपील है कि हिंसा छोड़ें और अपनी बात रखने के लिए आगे आएं।

उदयपुर में धारा-144, ऋषभदेव में भी इंटरनेट बंद

खेरवाड़ा और डूंगरपुर में इंटरनेट सेवा पहले से बंद है। शनिवार को ऋषभदेव में भी इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। उदयपुर जिले में धारा-144 भी लगा दी गई। हिंसा को देखते हुए उदयपुर की गोगुंदा और सराड़ा पंचायत में 28 और 29 सितंबर को होने वाले पंचायत चुनाव स्थगित कर दिए गए।

प्रदर्शन करने वाले शिक्षक भर्ती के अनारक्षित 1167 पदों को एसटी वर्ग से भरने की मांग कर रहे हैं। इसको लेकर कांकरी डूंगरी पहाड़ी पर 17 दिन से प्रदर्शन चल रहा था। गुरुवार से ज्यादा बवाल शुरू हुआ। 12 अप्रैल 2018 को तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती में सामान्य शिक्षा के 5431 पदों पर भर्ती निकली थी। एसटी को 45%, एससी को 5% और सामान्य वर्ग को 50% आरक्षण है।

यह है प्रदर्शनकारियों की मांग

इस तरह सामान्य वर्ग के लिए 2721 पद थे। राजस्थान पात्रता परीक्षा शिक्षक के लिए (REET) में 60% से ज्यादा अंक वाले सामान्य वर्ग के 965 उम्मीदवार सिलेक्ट हुए। इन्हीं पदों पर REET में 60% से ज्यादा अंक वाले एसटी के 589 उम्मीदवारों का चयन हुआ। इस तरह सामान्य वर्ग से कुल 1554 पद भरे और 1167 पद खाली रह गए। प्रदर्शनकारी इन्हीं खाली पदों पर एसटी अभ्यर्थियों की नियुक्ति की मांग कर रहे हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *