रामायण-महाभारत सुनकर बड़ा हुआ, भारत के लिए दिल में विशेष स्थानः ओबामा

Barack obama's book
Page Visited: 135
0 0
Read Time:2 Minute, 29 Second

आम मत | न्यूयॉर्क

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की किताब ए प्रोमिस्ड लैंड के अंश लगातार सामने आ रहे हैं। एक जगह उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को नर्वस और उत्सुक छात्र बता दिया था। वहीं, इस बार उनकी किताब का एक अन्य अंश सामने आया है। इस अंश में उन्होंने भारत के लिए अपने दिल में विशेष स्थान बताया है। इसका कारण उन्होंने यह बताया कि अपने बचपन के शुरुआती सालों में वे इंडोनेशिया रहे। वे रामायण और महाभारत सुनकर बड़े हुए हैं, इसलिए उनके दिल में भारत के लिए विशेष स्थान है।

ए प्रोमिस्ड लैंड में ओबामा कहते हैं, ‘शायद यह इसका (भारत) विशाल आकार था। जहां दुनिया की आबादी का 6वां हिस्सा रहता है, अनुमानित दो हजार अलग-अलग जातीय समूह हैं और 700 से ज्यादा भाषाएं बोली जाती हैं।’ ओबामा का कहना है कि वह 2010 में बतौर राष्ट्रपति के तौर पर यात्रा से पहले कभी भारत नहीं आए थे, लेकिन यह देश हमेशा उनकी कल्पना में एक विशेष स्थान रखता है।

ओबामा कहते हैं, ‘शायद ऐसा इसलिए था क्योंकि मैंने अपने बचपन का एक हिस्सा इंडोनेशिया में हिंदू कथाओं रामायण और महाभारत के महाकाव्य को सुनकर गुजारा था या पूर्वी धर्मों में मेरी रुचि के कारण या कॉलेज के पाकिस्तानी और भारतीय दोस्तों के एक समूह के कारण, जिन्होंने मुझे दाल और कीमा खाना-बनाना सिखाया और बॉलीवुड फिल्मों में रुचि जगाई।’

उल्लेखनीय है कि ओबामा की यह किताब वर्ष 2008 के चुनाव अभियान से लेकर उनके पहले कार्यकाल के अंत की यात्राओं का लेखा है। इसमें पाकिस्तान के ऐबटाबाद में अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन को मार गिराने वाली घटना का भी जिक्र है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *