रामविलास पासवान के नाम था विश्व रिकॉर्ड, राजनीतिक पूर्वानुमान लगाने में थे माहिर

Central Minister Ram Vilas Paswan
Page Visited: 379
0 0
Read Time:2 Minute, 23 Second

आम मत | नई दिल्ली

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का गुरुवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। उनकी गिनती जमीन से जुड़े नेताओं में होती थी। रामविलास पासवान के नाम विश्व रिकॉर्ड भी है। पासवान ने दो बार लोकसभा चुनाव सर्वाधिक मतों जीतने का विश्व रिकॉर्ड बनाया था। पासवान देश के 6 प्रधानमंत्रियों की कैबिनेट में मंत्री रहे।

राजनीति में उनकी पकड़ ऐसी थी कि कई बार उनकी मौजूदगी से सरकार बनती बिगड़ती थी। यही वजह रही कि वह राजनीति में हमेशा प्रभावशाली भूमिका निभाते रहे। राजनीतिक कद उनका इतना बड़ा था कि यूपीए में शामिल करने के सोनिया गांधी उनके आवास पर मिलने खुद गई थीं।

पासवान वर्ष 1996 से 2015 तक केंद्र में रही हर सरकार (एनडीए या यूपीए) का हिस्सा बने। पासवान खुद भी स्वीकार कर चुके थे कि वह जहां रहते हैं सरकार उन्हीं की बनती है। उनके बारे में कहा जाता है कि राजनीतिक मौसम का पुर्वानुमान लगाने में वे माहिर थे।

33 वर्ष में एक बार 2009 में हारे हाजीपुर से चुनाव

रामविलास पासवान वर्ष 2009 में 33 वर्षों में पहली बार हाजीपुर संसदीय सीट से चुनाव हारे। इस वर्ष उन्होंने लालू प्रसाद की राजद से हाथ मिलाया था। इस चुनाव में जनता दल के रामसुंदर दास से चुनाव हारे थे। हालांकि, लालू प्रसाद के सहयोग से वे राज्यसभा सांसद बन गए थे।

वर्ष 2014 में वे नरेंद्र मोदी नेतृत्व वाले एनडीए में शामिल हो गए। एनडीए ने चुनाव जीता और पासवान मंत्री बनाए गए। वहीं, उनके पुत्र चिराग पासवान इसी वर्ष यानी 2014 में पहली बार जमुई संसदीय सीट से सांसद बने।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement