दिवाली स्पेशलः धनतेरस पर भूलकर भी ना खरीदें ये वस्तुएं, हो सकती है धनहानि

File
Page Visited: 336
2 0
Read Time:3 Minute, 27 Second

आम मत | नई दिल्ली

दिवाली आने में अब ज्यादा समय नहीं रहा है। दिवाली का त्यौहार 5 दिनों तक चलता है। इसे दीपोत्सव के नाम से भी जाना जाता है। धनतेरस से शुरू होने वाला दीपोत्सव का यह त्यौहार भाई दूज तक चलता है। धनतेरस के दिन को सोने-चांदी के गहने और बर्तन खरीदने के लिए बेहद शुभ माना जाता है।

दिवाली स्पेशलः धनतेरस पर भूलकर भी ना खरीदें ये वस्तुएं, हो सकती है धनहानि

धनतेरस पर क्या ना खरीदे

वर्तमान दौर में इस दिन पर कपड़े, घर के सजावट की वस्तुएं और अन्य चीजें भी खरीदी जाती हैं। बहुत ही कम लोगों को पता होता है कि इस दिन कौनसी चीजें खरीदना आपके लिए अमंगलकारी होता है। इस खबर में हम आपको बताएंगे उन चीजों के बारे में, जिन्हें आप भूलकर भी धनतेरस के दिन ना खरीदें

कार या बाइक

दीपोत्सव के पहले दिन यानी धनतेरस को लोग बेहद शुभ मानते हुए नया वाहन जैसे कार, बाइक खरीदते हैं। अगर आप भी धनतेरस पर कार या बाइक खरीदने की सोच रहे हैं तो ऐसा ना करें, यह आपके लिए अशुभ रहेगा। वैसे इसके निराकरण के लिए आप कार या बाइक की पैमेंट धनतेरस से पहले कर दें और डिलीवरी धनतेरस के दिन लें। इससे दोष नहीं लगेगा।

लोहा से बने बर्तन

इस दिन भूलकर भी लोहा या लोहे से बनी कोई वस्तु नहीं खरीदनी चाहिए। अगर आपको लोहे के बर्तन खरीदने भी हैं तो धनतेरस से पहले ही खरीद लें।

खाली बर्तन

इसका अर्थ ये है कि जब भी इस दिन घर में बर्तन खरीद कर लाएं तो घर में घुसने से पहले उसमें पानी या कोई और खाद्य पदार्थ डाल दें। इस दिन बर्तन खरीदना बेहद ही शुभ माना जाता है। कहते हैं इस दिन भगवान धनवंतरि कलश लेकर प्रकट हुए थे इसीलिए इस दिन बर्तन खरीदना शुभ माना जाता है।

स्टील

लोगों की इस बात की जानकारी नहीं है स्टील भी लोहे का ही दूसरा रूप है। इसीलिए इस दिन लोग घर में स्टील के बर्तन खरीदकर लाते हैं, लेकिन इस दिन स्टील की बजाय दूसरी धातु के बर्तन खरीदना चाहिए। इस दिन कांसे, तांबे और पीतल के बर्तन खरीदे जा सकते हैं।

काले रंग की वस्तुएं

इस दिन काले रंग की वस्तुओं को घर में लाने से बचना चाहिए। बाकी किसी भी रंग की वस्तु खरीदी जा सकती है, लेकिन काले रंग की चीज़ इस दिन नहीं खरीदनी चाहिए।

तेल

धनतेरस के दिन घर में तेल खरीद कर नहीं लाना चाहिए। वहीं, इस दिन दीया जलाने की प्रथा है इसीलिए पहले से ही घर में तेल खरीद कर रख लेना चाहिए।

आज ही सबस्क्राइब करें आममत हिन्दी समाचार पत्र

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *