कोरोना वैक्सीन की डोज और कीमत जैसे कई सवालों के जवाब हमारे पास नहींः मोदी

Page Visited: 253
1 0
Read Time:3 Minute, 58 Second

– 9 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ की बैठक

आम मत | नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को 9 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना पर बैठक की। प्रधानमंत्री ने 8 महीने में नौवीं बार मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा की। मीटिंग के बाद मोदी ने अभी यह तय नहीं है कि कोरोना वैक्सीन की एक डोज देनी होगी या दो। उसकी कीमत क्या होगी, यह भी तय नहीं है। अभी ऐसे किसी भी सवाल का जवाब हमारे पास नहीं हैं।’

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि देश में अभी कोरोना की वैक्सीन आने में वक्त है और जब तक वैक्सीन न आ जाए, हिदायतें ही काम आएंगी। मोदी ने कहा- वैक्सीन की रिसर्च आखिरी दौर में पहुंची है। भारत जो भी वैक्सीन देगा, वो वैज्ञानिक तौर पर खरी होगी। भारत सरकार हर डेवलपमेंट पर बारीकी से नजर रख रही है। वैज्ञानिक हैं, जो वैक्सीन बनाने वाले हैं। कॉरपोरेट वर्ल्ड का भी कंपटीशन है। हम इंडियन डेवलपर्स और दूसरे मैन्यूफैक्चरर्स के साथ भी काम रहे हैं।

मोदी ने मीटिंग के दौरान यह भी कहा, “कुछ लोग वैक्सीन को लेकर राजनीति कर रहे हैं।’ मोदी ने किसी पार्टी या नेता का नाम नहीं लिया। दरअसल, मोदी की बिहार चुनाव के दौरान मुफ्त वैक्सीन देने की घोषणा पर उद्धव ने तंज कसा था। उन्होंने कहा था कि बाकी राज्य बांग्लादेश या पाकिस्तान में हैं क्या? मोदी का आज का बयान इसी का जवाब माना जा रहा है।

मोदी बोले- ऐसा ना हो कि हमारी कश्ती वहां डूबी जहां पानी कम था

मोदी ने कहा- त्योहारों से पहले मैंने हाथ जोड़कर प्रार्थना की थी कि कोई दवाई-वैक्सीन नहीं है और आप ढिलाई मत बरतिए। चौथे चरण में जो गलती की हैं, हमें उन्हें सुधारना होगा। हमें तो कोरोना पर ही फोकस करना है। अब हमारे पास टीम तैयार है। जो-जो चीज तैयार करें, उसे इम्प्लीमेंट करें। ना कोरोना बढ़े और ना कोई गड़बड़ हो। आपदा के गहरे समुद्र से निकलकर हम किनारे की तरफ बढ़ रहे हैं। ऐसा न हो जाए कि हमारी कश्ती वहां डूबी, जहां पानी कम था। हमें वो स्थिति नहीं आने देनी है।

बैठक में ये रहे मौजूद

बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन और महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे मौजूद रहे। महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात, मध्यप्रदेश और राजस्थान वे राज्य हैं, जहां एक्टिव केस तेजी से बढ़ रहे हैं।

हमें खबरों को और बेहतर करने में मदद करें

हमें खबरों को और बेहतर करने में मदद करें
*
*
*
*

[qsm quiz=1]

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement