कानपुरः दंपती ने बच्ची का लिवर खाया, 500 रुपए के लिए रेप कर हत्या

Page Visited: 167
0 0
Read Time:2 Minute, 52 Second

आम मत | कानपुर

उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई। दिवाली की रात को हुई 6 साल की बच्ची की हत्या मामले में जब पुलिस ने खुलासा किया तो ऐसी हकीकत सामने आई, जिसने सभी को दहला कर रख दिया। बच्ची की हत्या काले जादू और तंत्र मंत्र के चलते की गई। मामले में बच्ची के चाचा-चाची सहित 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया। बच्ची की हत्या करने के बाद चाचा-चाची ने उसका लीवर का कुछ हिस्सा भी खाया। ये सब संतान की चाह में किया गया।

जानकारी के अनुसार, कानपुर के घाटमपुर थाना क्षेत्र के भदरस गांव में एक व्यक्ति की 6 साल की बेटी दिवाली वाले दिन दुकान से सामान लेने गई थी। इसके बाद वह घर नहीं लौटी, परिजन रातभर उसकी तलाश करते रहे। पुलिस को भी इसकी सूचना दे दी गई। अगले दिन बच्ची का शव काली मंदिर के पास क्षत-विक्षत नग्नावस्था में मिला। प्रारंभिक जांच में तंत्र-मंत्र के चलते बच्ची की हत्या का अंदेशा हुआ। इसका कारण बच्ची के अंदरूनी अंगों का गायब होना था।

दिवाली पर अघोरी साधना की जाती है। साथ ही, बच्ची का शव काली मंदिर के पास मिला। जांच के दौरान गांव के ही अंकुल और बीरन को हिरासत में लिया गया। पूछताछ में दोनों ने कबूला कि उनके चाचा परशुराम ने उन्हें बताया कि अगर वह अपनी पत्नी के साथ किसी बच्ची का लीवर खाएंगे तो उन्हें संतान प्राप्ति होगी।

परशुराम ने अंकुल को 500 और बीरन एक हजार रुपए रुपए भी दिए। इसके बाद अंकुल ने दोस्त बीरन के साथ शराब पी और फिर बच्ची को पटाखे दिलाने के बहाने जंगल में ले जाकर रेप कर हत्या कर दी। दोनों ने बच्ची के पेट फाड़कर अंग निकाल लिए और परशुराम को दे दिए। परशुराम ने पत्नी के साथ बच्ची का लिवर खाया और बाकी हिस्सा कुत्तों को खिला दिया। पुलिस ने परशुराम और उसकी पत्नी सुनैना को भी गिरफ्तार कर लिया। अंकुल-बीरन को जेल भेज दिया गया।

Share
संसद भवन Previous post संसदः एक साथ आयोजित हो सकता है शीतकालीन और बजट सत्र
Next post मध्यप्रदेशः लव जिहाद के लिए आएगा कानून, 5 साल की होगी सजा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement