ऑर्टिफिशियल इंटेलीजेंस इस्तेमाल के मामले में भारत ने अमेरिका, ब्रिटेन को पछाड़ा

Page Visited: 90
3 0
Read Time:2 Minute, 49 Second

आम मत | नई दिल्ली

भारत ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (AI) इस्तेमाल करने के मामले में अमेरिका, जापान ब्रिटेन को भी पीछे छोड़ दिया। कोरोना का सामना करने के लिए भारत के बिजनेस संगठनों ने किसी भी देश के मुकाबले AI का ज्यादा इस्तेमाल किया। प्राइसवॉटरकूपर्स की एक रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है।

रिपोर्ट में कहा गया कि भारतीय कारोबारी कंपनियां और संगठन कोरोना को लेकर दृढ़ प्रतिज्ञ दिखे। इसके मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर ने उत्पादन के परंपरागत तरीकों को छोड़ कर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को अपनाने में काफी तत्परता दिखाई। सरकार के प्रोत्साहन से ऑटोमेटेड वैल्यू चेन में नए प्रयोग को तैयार भारतीय कंपनियों आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का सहारा लिया।

टेक्नोलॉजी कंपनियों ने इसका इस्तेमाल कर यह दिखाया कि AI की मदद से उत्पादन में निरंतरता बनाए रखी जा सकती है। इस संकट की घड़ी में इससे जुड़ी समस्याओं का हल खोजा जा सकता है। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग, कॉन्टेक्सलेस थर्मल स्क्रीनिंग जैसी गतिविधियों में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का काफी इस्तेमाल दिखा।

रिपोर्ट के अनुसार, यूनिवर्सिटी, स्टार्ट-अप और हेल्थकेयर सेक्टर आर्टिफिशियल-इंटेलिजेंस पावर्ड डायगोनेस्टिक गाइडेंस सिस्टम के जरिए मरीजों की मदद के हेल्थकेयर प्रोडक्ट विकसित किए। इसकी मदद से पढ़ाई के डिजिटल सॉल्यूशन निकाले गए।

भारत में 45% तो अमेरिका में 35% ज्यादा हुआ AI का इस्तेमाल

भारत में इस दौरान AI के इस्तेमाल में 45 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई। अमेरिका में इसमें 35 फीसदी का इजाफा हुआ, ब्रिटेन में 23 और जापान में 28 फीसदी का इजाफा दर्ज किया गया। रिपोर्ट तैयार करने के लिए जिन संगठनों का सर्वे किया गया था उनमें से 70 फीसदी ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल किया था। पिछले साल यह दर 62 फीसदी थी।

Share
Previous post पथराव मामलाः सीएम ममता बनर्जी का भाजपा पर तंज, नड्डा-फड्डा कराते हैं ऐसी नौटंकियां
Next post CJI बोबडे की मां मुक्ता से 2.5 करोड़ की धोखाधड़ी, आरोपी गिरफ्तार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement