इस देश में कोरोना से ज्यादा सुसाइड के कारण लोगों की हुई है मौत

Page Visited: 371
3 0
Read Time:3 Minute, 52 Second

आम मत | नई दिल्ली

कोरोना के कारण पूरे विश्व में लगातार मौत हो रही हैं। क्या आप जानते हैं एक ऐसा भी देश है, जहां इस साल कोरोना के कारण कम और आत्महत्या के कारण ज्यादा मौत हुई है। चौंक गए ना, लेकिन ऐसा सिर्फ हम नहीं कह रहे हैं, ये उस देश की सरकार की और से जारी किए आंकड़े बता रहे हैं। इस देश का नाम है जापान। जापान में अब तक कोरोना के कारण जितनी मौत हुई हैं, उनसे ज्यादा अक्टूबर माह में सुसाइड हुए हैं।

जापान सरकार की ओर से जारी किए सुसाइड डेटा के अनुसार, जापान में अक्टूबर माह में 2153 मौत हुई हैं। वहीं, देशभर में कोरोना के कारण कुल 2087 मौत हुई है। 12 करोड़ की आबादी वाले जापान में अब तक कुल 1 लाख 42 हजार कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, 2087 लोगों की मौत हो चुकी है। दूसरी ओर महामारी के कारण लोगों की जिंदगियां काफी अधिक प्रभावित हुई है। कोरोना के कारण लोगों की सैलरी कम हो जाने के कारण वे तनाव में हैं।

विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि कोरोना की वजह से मानसिक स्वास्थ्य संकट पैदा हो सकता है। बड़े पैमाने पर लोग बेरोजगार हो सकते हैं। सोशल आइसोलेशन के शिकार हो सकते हैं और एन्जाइटी से जूझने वाले लोगों की संख्या भी बढ़ सकती है। जापान दुनिया के चुनिंदा उन देशों में है जहां समय से सुसाइड के डेटा जारी किए जाते हैं। अमेरिकी सरकार ने 2018 के बाद के सुसाइड डेटा जारी नहीं किए हैं।

अन्य देशों के हालातों से जुड़े मिल सकते हैं संकेत

विशेषज्ञों का कहना है कि जापान के सुसाइड के आंकड़ों से अन्य देशों के हालात से जुड़े संकेत भी मिल सकते हैं। टोक्यो यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर और सुसाइड मामलों के एक्सपर्ट मिशिको उएडा ने कहा कि जापान में लॉकडाउन भी नहीं था। यहां कोरोना का प्रभाव अन्य देशों के मुकाबले कम था, फिर भी सुसाइड के आंकड़ों में इजाफा हुआ है। इससे यह पता चलता है कि अन्य देशों में सुसाइड का आंकड़ा शायद इससे भी अधिक होगा।

पहले भी जापान में रही है सुसाइड की दर अधिक

हालांकि, जापान में पहले से सुसाइड की दर अधिक रही है। 2016 में सुसाइड से होने वाली मौतों की दर प्रति एक लाख लोगों पर 18.5 थी। साउथ कोरिया के बाद यह दर दुनिया में सबसे अधिक थी। वहीं, वैश्विक स्तर पर सुसाइड की दर प्रति एक लाख लोगों पर 10.6 थी। 2019 में जापान में कुल 20 हजार लोगों की मौत सुसाइड से हो गई थी।

वहीं, पिछले साल के अक्टूबर के मुकाबले इस साल अक्टूबर में महिलाओं में सुसाइड की दर 83 फीसदी बढ़ गई, जबकि पुरुषों में सुसाइड के मामले 22 फीसदी बढ़ गए। इससे यह भी समझा जा रहा है कि महामारी की मार महिलाओं पर अधिक पड़ी है।

Share
Previous post जम्मू कश्मीरः डीडीसी चुनाव में 51.79% मतदान, वोटर्स बोले-विकास के लिए किया मतदान
Next post किसानों ने ठुकराया गृहमंत्री शाह का प्रस्ताव, सिंधु बॉर्डर पर जारी रहेगा प्रदर्शन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement