इसरो ने EOS-1 के साथ 9 विदेशी सैटेलाइट का भी किया सफल प्रक्षेपण

PSLVC49
Page Visited: 596
2 0
Read Time:2 Minute, 41 Second

आम मत | बेंगलुरु

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानी इसरो ने वर्ष का पहला सैटेलाइट शनिवार को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्‍पेस सेंटर से लॉन्च किया। इसरो ने EOS-1 के सहित कुल 10 सैटेलाइट सफलतापूर्वक लॉन्च किए। अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट-1 (EOS-1) एक रडार इमेजिंग सैटेलाइट है। PSLV-C49 रॉकेट के जरिए देश के EOS-1 के साथ ही 9 विदेशी उपग्रह भी भेजे गए। रडार इमेज‍िंग सैटेलाइट का सिंथेटिक अपरचर रडार बादलों के पार भी देख सकता है। यह दिन-रात और हर मौसम में फोटो ले सकता है। इसके जरिए मिलिट्री सर्विलांस यानी आसमान से देश की सीमाओं पर नजर रखने में मदद मिलेगी।

साथ ही एग्रीकल्चर-फॉरेस्ट्री, मिट्टी की नमी पता करने और डिजास्टर मैनेजमेंट में भी सपोर्ट करेगा। रॉकेट लॉन्च होने के बाद PSLV-C49 के चौथे स्टेज के सेपरेशन के बाद EOS-01 अलग हुआ। उसकी तस्वीरें दिखाई पड़ीं। भारतीय सैटेलाइट EOS-01 (तस्वीर में) के कक्षा में स्थापित होने के बाद ग्राहक देशों के सैटेलाइट्स को उनकी निर्धारित कक्षा में स्थापित किया गया। एक के बाद एक करके सारे सैटेलाइट्स उनके तय ऑर्बिट में स्थापित कर दिए गए।

कोरोना की वजह से इसरो के कई प्रोजेक्ट्स रुक गए थे, जिसे अब दोबारा शुरू किया जा रहा है। इसी कड़ी में ही इसरो ने सैटेलाइट ‘EOS-01’ (अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट) को PSLV-C49 रॉकेट से लॉन्च किया है। यह मिशन इसलिए भी विशेष है क्योंकि इसरो PSLV-C49 रॉकेट से EOS-01 सैटेलाइट के साथ लिथुआनिया का एक, लग्ज़म्बर्ग के चार और अमेरिका के चार ऐसे कुल 9 कस्टमर सैटेलाइट भी लॉन्च करेगा। यह सभी सैटेलाइट न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड (NSIL) के साथ एक कॉमर्शियल एग्रीमेंट के तहत लॉन्च किए गए हैं।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement